अगर कोरोना हुआ तो 25000 से 1 लाख रुपए देगी RSS, पत्रकारों, स्वास्थ्य कर्मी, सफाई कर्मी के लिए खोला मदद

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ RSS) के अनुषंगी संगठन सेवा भारती लॉकडाउन के दौरान राष्ट्रीय राजधानी में अपने कर्तव्य का निर्वाह करते हुए कोरेना वायरस से संक्रमित होने वाले ऐसे स्वास्थ्य कर्मियों, सफाई कर्मियों, पत्रकारों को वित्तीय मदद देगी जो अनुबंध पर कार्यरत होंगे।
 

 
सेवा भारती के संगठन मंत्री सुखदेव भारद्वाज ने यह जानकारी देते हुए कहा कि सेवा भारती उन स्वास्थ्य कर्मी, सफाई कर्मी, पत्रकारों को 25000 रुपये की आर्थिक मदद देगी जो लॉकडाउन के दौरान काम करते हुए कोरोना वायरस से संक्रमित होंगे। इनमें ऐसे स्वास्थ्य एवं सफाई कर्मी तथा पत्रकार शामिल होंगे जो अनुबंध या ठेके पर कार्यरत होंगे। उन्होंने बताया कि संक्रमण से अगर ऐसे किसी स्वास्थ्य कर्मी, सफाई कर्मी, पत्रकार का देहांत होता है तब उनके परिवार को एक लाख रूपये की श्रद्धा निधि दी जायेगी।
 
 
वहीं, आरएसएस की दिल्ली इकाई के प्रचार प्रमुख रितेश अग्रवाल ने कहा कि संघ ने दिल्ली में कोरोना वायरस के मद्देनजर लॉकडाउन के दौरान अब तक 1.22 लाख व्यक्तियों को भोजन किट दी जिसमें एक सप्ताह का राशन होता है। इसके अलावा 28.62 लाख लोगों को तैयार भोजन के पैकेट दिये गए हैं। दिल्ली में 179 स्थानों पर भोजन तैयार करने की व्यवस्थ की गई है जबकि 8909 स्वयंसेवक अपने परिवारों से भोजन पैकेट तैयार करके दे रहे हैं।

 
वहीं, आरएसएस के दिल्ली प्रांत के वरिष्ठ प्रचारक राजीव तुली ने बताया कि दिल्ली में चार प्रकार की हेल्पलाइन शुरू की गई है जिसमें 50 हजार से अधिक सहायता के निवेदन आए हैं। इसमें सेवा भारती की हेल्पलाइन-50666 शामिल है। इसके अलावा छात्र हेल्पलाइन, पूर्वोत्तर के लोगों के लिये हेल्पलाइन, दिव्यांगजनों के लिये हेल्पलाइन शामिल है। इसके साथ ही डिजिटल हेल्पलाइन ‘उत्कर्ष मोबाइल एप’ भी शुरू किया गया है। उन्होंने बताया कि संघ दिल्ली में 406 एकाकी बुजुर्ग परिवारों को भी सहायता प्रदान कर रहा है।

Leave a Reply