अरब से बिहार 15 हज़ार प्रवासी, सबकी व्यवस्था AIRPORT के होटेल में, नीतीश सरकार का तगड़ा निर्णय

अलग-अलग राज्यों से लौट रहे विदेशी मजदूरों को लेकर भले ही समय-समय पर नीतीश कुमार (Nitish Kumar ) की आलोचना हो रही हो लेकिन विदेशों से लौट रहे भारतीयों को लेकर नीतीश सरकार के इंतजाम से विदेश मंत्रालय और केंद्र सरकार बेहद प्रभावित है.
 

 
सरकार के उच्च स्तर के आधिकारिक सूत्रों के अनुसार बिहार सरकार ने विदेशों से बिहार लौटने वाले लोगों के लिए बोधगया एयरपोर्ट (Bodhgaya Airport) और वहां आस-पास स्थित टूरिस्ट इंफ्रास्ट्रक्चर का बखूबी इंतजाम किया है. सरकारी सूत्रों का कहना है कि नीतीश कुमार ने बोध गया में खाली पड़े टूरिस्ट सेंटर का इस्तेमाल करने का बहुत ही सही निर्णय लिया ताकि लोगों को अच्छी सुविधा भी मिल जाये.
 
 
 
वंदे भारत मिशन (Vande Bharat Mission) के तहत पहले चरण में 12 देशों से करीब 15000 लोग वापस आ रहे हैं. सरकार कोशिश कर रही है कि लौटने वाले लोगों को उनके गृह जिले के आसपास वाले एयरपोर्ट पर उतारा जाए. इसके तहत देश भर के छोटे-छोटे शहरों में स्थित एयरपोर्ट जैसे- बागडोगरा, गुवाहाटी, बोधगया का इस्तेमाल किया जा रहा है.
 
 

बता दें वंदे भारत मिशन के तहत विदेशों में रहने वाले भारतीयों को वापस लाने के लिए 7-13 मई के बीच पहले चरण के बाद दूसरा चरण 15 मई से शुरू होगा. दूसरे चरण में उन देशों को शामिल करने की कोशिश की गई है जिन्हें पहले चरण में नहीं रखा गया था. दूसरे चरण में रूस, CIS देश- कजाकिस्तान, उज्बेकिस्तान, वगैरह, यूरोपीय देश-जर्मनी, नीदरलैंड, स्पेन वगैरह शामिल होंगे.
 
 

विदेशों में रहने वाले भारतीय जो अभी स्वदेश में है अगर वो वापस जाना चाहते हैं तो अगर संबंधित देश में आने की इजाजत हो तो जल्द ही उनको जाने की अनुमति मिल सकती है.

Leave a Reply