उम्मीद जगी: अब मात्र 48 घंटे में कोरोना को ख़त्म करने वाली दवाई, सफल परीक्षण से पूरी दुनिया में ख़ुशी

कोरोनावायरस के खिलाफ जीत हासिल करने की उम्मीद बढ़ गई है। ऑस्ट्रेलिया के वैज्ञानिकों ने लैब में एक एंटी-पैरासाइट दवा अाइवरमेक्टिन से कोरोना वायरस को खत्म करने में कामयाबी हासिल की है। अाॅस्ट्रेलिया के मोनाश यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने रिसर्च में पाया कि पहले से मौजूद एंटी-पैरासाइटिक ड्रग कोविड-19 को खत्म कर सकती है।

 
वैज्ञानिकों ने इस दवा से लैब में कोरोना से संक्रमित कोशिका से इस घातक वायरस को 48 घंटे में ही खत्म किया है। इससे अब क्लीनिकल ट्रायल का रास्ता साफ हो सकता है। जर्नल एंटी-वायरल िरसर्च में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक अाइवरमेक्टिन की एक खुराक कोरोना समेत सभी वायरल आरएनए को 48 घंटे में खत्म कर सकती है। अगर संक्रमण ने कम प्रभावित किया है तो वायरस 24 घंटे में खत्म हो सकता है।
 
 
दरअसल आरएनए वायरस उन्हें कहा जाता है, जिनके जेनेटिक मटीरियल में आरएनए यानी रिबो न्यूक्लिक एसिड होता है। इस स्टडी को मोनाश यूनिवर्सिटी की काइली वागस्टाफ ने अन्य वैज्ञानिकों के साथ मिलकर लिखा है।
 

कोरोना का डर इतना ज्यादा है कि अल्ट्रावायलेट किरणों से इससे बचाव के बारे में बहुत से लोग सहमत हैं. यही वजह है कि चीन में सारी बसों को UVC लाइट की सुरंग से रोज रात में गुजारा जाने लगा है. अस्पतालों में रोबोट UVC की मदद से फ्लोर साफ कर रहे हैं और बैंकों में पैसों को ऐसे ही डिसइन्फेक्ट किया जा रहा है.

Leave a Reply