क़तर से आया बिहार में कामगार, कोरोना से शुरू हुआ बिहार में मौत, 520 यात्रियों को बिहार ने घर में किया Q प्रॉसेस शुरू

बिहार में कोरोना वायरस से पीड़ित 38 वर्षीय सैफ अली  की मौत हो गई है। वह कुछ दिन पहले ही कतर से लौटा था। कोरोना पाजिटिव पाए जाने के बाद उसका इलाज पटना के एनएमसीएच में चल रहा था। बिहार के स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने बताया की मरने वाला युवक कोरोना से पीड़ित था। बिहार में पहली मौत के साथ ही देश में कोरोना से दम तोड़ने वालों की संख्या छह हो गई है।
जानकारी के मुताबिर सैफ मुंगेर के रहने वाले थे और वो हाल ही में कतर से लौटे थे। पूरे देश के साथ ही साथ बिहार में भी कोरोना का खौफ लगातार बढ़ता जा रहा है। देशभर में 300 से ज्यादा मरीज कोरोना के पीड़ित पाए गए हैं। बिहार में कोरोना से संदिग्ध मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही थी लेकिन इस गंभीर बीमारी से मौत का यह पहला मामला सामने आया है।
520 यात्रियों को सर्विलांस पर रखा गया
बिहार में कोरोना वायरस के लक्षण वाले 520 यात्रियों को अबतक सर्विलांस पर रखा गया है। इनको 14 दिनों तक होम आइसोलेशन पर रखकर डॉक्टरों द्वारा निगरानी की जा रही है। वहीं, अबतक 119 संदिग्ध मरीजों को आइसोलेशन से बाहर किया गया है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से सोमवार को जारी सूचना में ये जानकारी दी गयी।  विभाग से मिली जानकारी के अनुसार राज्य में अबतक 85 संदिग्ध मरीजों से जांच के लिए नमूने संग्रह किए गए हैं।
746 स्थानों पर कोरोना से बचाव को लेकर प्रचार सामग्री वितरित 
जानकारी के अनुसार स्वास्थ्य विभाग की पहल पर राज्य के विभिन्न जिलों में 746 स्थानों पर कोरोना से बचाव को लेकर प्रचार सामग्रियों का वितरण किया गया है। लोगों को हाथ धोने, अनावश्यक घर से बाहर नहीं निकलने और आसपास की वस्तुओं को सेनेटाइज करने की सलाह दी गयी है।

About Lov Singh

बिहार से हूँ, भारतीय होने पर गर्व हैं. मध्य पूर्व Asia से रूबरू कराता हूँ और फ़र्ज़ी खबरों की क्लास लगाता हूँ.
Download Gulfhindi MOBILE APP

Leave a Reply