बड़े हमले के बाद पूरा ये देश सन्न, 2 दर्जन से ज़्यादा मौ'त, विदेश मंत्रालय भारत ने भी किया निंदा

अफगानिस्तान में मंगलवार को हुए आतंकवा’ दी ह’ मलों में करीब 45 लोग घा यल हो गए। अस्पताल पर तीन बंदू कधारियों ने अंधाधुंध गो लियां बरसाईं, जबकि नांग रहार में आत्मघा ती हमलावर ने खुद को ब म से उड़ा लिया।
 

विस्तार

अफगानिस्तान में मंगलवार को राजधानी स्थित एक प्रसूति अस्पताल पर तीन अज्ञात बंदूकधारियों ने अंधाधुंध गोलियां बरसाईं और ग्रेनेड फेंके, जिसमें दो नवजात समेत पांच लोगों की मौत हो गई और 15 घायल हो गए। वहीं नांगरहार प्रांत में अंतिम संस्कार के दौरान हुए आत्मघाती हमले में कम से कम 21 लोग मा’रे गए और 30 घायल हो गए।
रिपोर्ट के मुताबिक, काबुल के शिया बहुल दश्त-ए-बारची इलाके में मारे गए लोगों में दो नवजात के अलावा दो महिलाएं और एक सुरक्षाकर्मी शामिल है। तीनों हमलावरों को मार गिराया गया है। वहीं मरने वालों की संख्या बढ़ने की आशंका है।
अस्पताल के एक हिस्से में इंटरनेशल मेडिकल चैरिटी और मेडिसिन सेन्स फ्रंटियर का भी ऑफिस है, जिसमें बड़ी संख्या में विदेशी कर्मी काम करते हैं। माना जा रहा है कि हमलावर के निशाने पर यह लोग थे। दूसरी तरफ, नांगरहार प्रांत के गवर्नर के प्रवक्ता अताउल्लाह खोगयानी ने कहा कि आत्मघाती हमलावर ने एक स्थानीय पुलिस कमांडर के अंतिम संस्कार के दौरान खुद को उड़ा दिया। दोनों हमलों की जिम्मेदारी फिलहाल किसी आतंकी समूह ने नहीं ली है, लेकिन इसके पीछे तालिबान का हाथ बताया जा रहा है।
भारत ने की हम लों की निंदा
भारत 11 और 12 मई को अफगानिस्तान में हुए आतंकवादी हमलों की कड़ी निंदा की है। विदेश मंत्रालय की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि भारत महिलाओं, बच्चों और निर्दोष नागरिकों के खिलाफ किए गए इस बर्बर आतंकवादी हमले की कड़े शब्दों में निंदा करता है।
 
लगातार चार बम धमाकों से दहली राजधानी काबुल बता दें कि बीते सोमवार को ही अफगानिस्तान की राजधानी काबुल के उत्तरी इलाके में चार बम विस्फोट में एक बच्ची समेत चार लोग घायल हो गए थे। स्थानीय अधिकारियों ने बताया था कि एक बम कूड़ेदान के नीचे और तीन अन्य सड़क किनारे रखे गए थे। काबुल पुलिस के प्रवक्ता फरदौस फरमर्ज ने बताया था कि सड़क किनारे 10-20 मीटर की दूरी पर बमों को रखा गया था।

About Lov Singh

बिहार से हूँ, भारतीय होने पर गर्व हैं. मध्य पूर्व Asia से रूबरू कराता हूँ और फ़र्ज़ी खबरों की क्लास लगाता हूँ.
Download Gulfhindi MOBILE APP

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *