भारतीय कामगार के साथ बदमाशी, अब मौत के सज़ा का ऐलान

  • अब मौत के सज़ा का ऐलान

लूटपाट की कोशिश के दौरान दुबई में एक भारतीय व्यावसायी और उनकी पत्नी की हत्या करने के आरोप में पाकिस्तान के एक व्यक्ति को मौत की सजा मिल सकती है।

हीरेन आधिया और उनकी पत्नी विधि आधिया की गत 18 जून को उनके विला में हत्या कर दी गई और उनकी बेटी को घायल कर दिया गया था। घटना के 24 घंटे के भीतर दुबई पुलिस ने इस मामले में एक पाकिस्तानी व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया।

 

भारतीय परिवार के घर में बरामदे का दरवाजा बंद न होने के कारण घुसने में सफल हो गया

दुबई पुलिस ने बताया कि पाकिस्तानी व्यक्ति अरबियन रैंचेस में भारतीय परिवार के घर में बरामदे का दरवाजा बंद न होने के कारण घुसने में सफल हो गया। कानूनी सलाहकार हसन अल्हाइस ने कहा कि आरोपी पर दंपति की हत्या तथा उनकी बेटी की हत्या की कोशिश का आरोप लगाया जाएगा।

उन्होंने कहा कि उसने एक से अधिक लोगों की हत्या की और मामला दूसरे अपराध चोरी से भी जुड़ा है। ऐसे मामलों में संयुक्त अरब अमीरात दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 332 के तहत मौत की सजा तक का प्रावधान है।

दुबई पुलिस ने आरोपी को 24 घंटे से भी कम वक्त में गिरफ्तार कर लिया

गल्फ न्यूज ने खबर दी कि हिरेन आधिया और विधि आधिया की एरेबियन रैंचेज स्थित उनके आवास में हत्या कर दी गई। उनकी उम्र 40 साल से ज्यादा थी। दुबई पुलिस ने आरोपी को 24 घंटे से भी कम वक्त में गिरफ्तार कर लिया। दुबई पुलिस के अपराध जांच विभाग के निर्देशक ब्रिगेडियर जमाल अल जल्लाफ ने बताया कि दंपत्ति की बेटी ने पुलिस को घटना की सूचना दी। अखबार ने अल जल्लाफ के हवाले से कहा कि पुलिस और फॉरेंसिक विशेषज्ञों की टीम दो मंजिला आवास पर पहुंची।

व्यक्ति और उनकी पत्नी की हत्या की गई है। भारतीय व्यक्ति एक कंपनी में कार्यकारी प्रबंधक के तौर पर काम करते थे। उनके परिवार में 18 और 13 साल की दो बेटियां हैं। दुबई में भारतीय महावाणिज्य दूत ने दंपत्ति की पहचान कर ली है। पुलिस ने कहा कि संदिग्ध 18 जून को दरवाजा तोड़ कर घर में घुसा। उस वक्त परिवार सो रहा था। उसे बटुए में से 2000 दिरहम (41,229 रुपये) मिले तथा कीमती सामान की तलाश में वह अंदर शयनकक्ष में चला गया।

अल जल्लाफ ने बताया ‘इतने में व्यक्ति की आंख खुल गई तो हमलावर ने उनको चाकू मार दिया। उनकी पत्नी भी उठ गई और संदिग्ध ने उन पर भी चाकू से हमला कर दिया। वह तब तक उन्हें चाकू मारता रहा जब तक वे मर नहीं गए। जब उनकी 18 वर्षीय बेटी उठी और अपने माता-पिता को खून से लथपथ देखा तो हमलावर ने उसके गले पर भी चाकू मार दिया और भाग गया।’

बेटी को मामूली चोट आई और उन्होंने दुबई पुलिस को फोन किया। अधिकारियों को घर से एक किलोमीटर दूर चाकू मिला। उन्होंने हमलावर की पहचान कर ली जो संयुक्त अरब अमीरात के दूसरे अमीरात में रहता है।

Leave a Reply