भारत और अरब की फ़्लाइट, कौन कामगार जा सकेंगे पहले ? और तीसरी लहर फिर बनने वाली हैं रोड़ा.

भारत में लगातार प्रवासियों के आवाज विदेशों में लगे यात्रा प्रतिबंध को लेकर मजबूत होते जा रहे हैं और सोशल मीडिया और अन्य माध्यमों से लगातार वह अपने सरकार पर दबाव बना रहे हैं कि विदेशी  फ्लाइट के संचालन की सुनिश्चित  व्यवस्था की जाए.

 

भारतीय डिप्लोमेटिक  ग्रुप में इसको लेकर काफी एक्टिविटी की जा रही है और इसका नतीजा यह निकला है कि भारत अब द्विपक्षीय स्तर पर उन देशों के साथ वार्तालाप करेगा जिनके साथ विदेशी सेवाएं फ्लाइट की बंद रखी गई हैं. भारत सरकार का कहना है कि भारत में लगातार अब कोरोनावायरस के आंकड़े कम हो रहे हैं अतः भारत के ऊपर प्रतिबंध लगाए रखना ठीक नहीं है.

India India names Pavan Kapoor as new ambassador to UAE Diplomacy Dharmakshethra

विश्वसनीय सूत्रों की मानें तो सऊदी अरब जैसे देश अगर सेवाओं को दोबारा से शुरू करते हैं तो वह शुरुआत में उन भारतीय प्रवासियों को पहले मौका देंगे जो घरेलू कामगार और स्वास्थ सेवाओं से जुड़े हुए पेशेवर होंगे.

इस वक्त कई अरब देशों में भारतीय प्रवासियों को प्रतिबंधों को लेकर काफी फजीहत झेलनी पड़ रही है और उनके पास अब भारत में नाही जीवन गुजारने के लिए और पैसे बचे हैं और ना ही उन्हें काम मिल रहा है जिसके वजह से वह लगातार अरब देशों की यात्रा के शुरू होने का इंतजार कर रहे हैं.

indian embessy

संयुक्त अरब अमीरात में भारतीय लोगों के प्रवेश की तरकीब तो है लेकिन वह काफी महंगी साबित हो रही है. संयुक्त अरब अमीरात ने भारतीय लोगों को केवल चार्टर्ड फ्लाइट के जरिए प्रवेश देने के लिए अनुमति दिया है.

वहीं कई स्वास्थ्य एक्सपर्ट की मानें तो भारत में काफी धीमी चल रही वैक्सीन ड्राइव अगले एक और महामारी के दौर की ओर इशारा कर रही है जो कि अगले लहर के रूप में काफी गंभीर हो सकती है. भारत के कई राज्यों से वैक्सीन सप्लाई कमी की रिपोर्ट लगातार बाहर आ रही है.

 जनहित जानकारी:

फ्लाइट ओपन होने की सूचनाएं केवल अधिकारिक सूत्रों से ही आप प्राप्त करें और किसी भी अन्य ट्रैवल एजेंट ब्रोकर के झांसे में ना आए जो आपको अरब देशों की गारंटीड यात्रा की तरकीब देता हूं.

About Lov Singh

बिहार से हूँ, भारतीय होने पर गर्व हैं. मध्य पूर्व Asia से रूबरू कराता हूँ और फ़र्ज़ी खबरों की क्लास लगाता हूँ.
Download Gulfhindi MOBILE APP

Leave a Reply