भारत – सऊदी से करेगा बात, बिना सऊदी IMPORT के हो रही हैं भारत में ज़्यादा दिक़्क़त

भारत में बढ़ रही तेल की कीमतों के बीच भारत के लोगों के लिए राहत भरी खबर आ रही है ।  भारत के केंद्रीय मंत्री ने भारतीय लोगों को दिलासा दिलाया है कि वह सऊदी अरब और उससे तेल के आयात और कीमतों के बढ़े हुए दामों के ऊपर चर्चा करेंगे.

अभी भारतीय तेल के ज्यादातर बड़ी खेप में उन देशों से आते हैं जहां पर प्रति बैरल सऊदी अरब और उसके तुलना में कीमतें ज्यादा है यह भी एक वजह है कि भारतीय तेल का बेस्ट प्राइस सामान्य अंतरराष्ट्रीय मार्केट से ज्यादा है.

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि वह भारतीय लोगों के ऊपर बढ़ रहे बोझ को कम करने का हर संभव प्रयास करना चाह रहे हैं और इसी क्रम में वह विदेश मंत्रालय के जरिए भारत के तेल की मांग इन दोनों देशों के साथ साझा करेंगे.

jagran

वही नितिन गडकरी ने कहा है कि भारतीय लोगों को पेट्रोल और डीजल से अपना ध्यान हटाकर के अन्य इंधन सिस्टम पर लगाना चाहिए जैसे कि इलेक्ट्रिक गाड़ियों का प्रयोग. बयान में नितिन गडकरी ने यह भी कहा कि भारत में जल्दी हाइड्रोजन से चलने वाली गाड़ियां सड़कों पर दिखाएं लगेंगे और इस तरह के विकल्प तलाशने हैं भारत के लिए ज्यादा बेहतर साबित होगा.

अगर समझौता सऊदी अरब और रूस जैसे देशों के साथ होता है तो तत्कालिक लाभ जल्द ही भारतीय उपभोक्ताओं को मिलेगा और एक बड़ी मात्रा में कटौती भारतीय तेल बाजार में लोगों को राहत देने के लिए की जा सकती है.

आपको बताते चलें कि कुछ दिन पहले ही दिल्ली में पेट्रोल को जीएसटी के दायरे में लाने के लिए एक वकालत की गई थी जिसमें ट्रक एसोसिएशन ने इस बाबत सरकार को पत्र लिखा था और कहा था कि दिल्ली सर्वप्रथम इसे लागू करें ताकि अन्य राज्य भी इसे फॉलो करें और जनता को बढ़ते हुए ईंधन के दाम के वजह से महंगाई का सामना ना करना पड़े.

About Lov Singh

बिहार से हूँ, भारतीय होने पर गर्व हैं. मध्य पूर्व Asia से रूबरू कराता हूँ और फ़र्ज़ी खबरों की क्लास लगाता हूँ.
Download Gulfhindi MOBILE APP

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *