भारत में मुस्लिमों के ख़िलाफ़, और मस्जिदों को गिराना अब तुम्हारा आंतरिक खेल नही: सऊदी अरब OIC..

भारत में मुस्लिम समुदाय के ख़िलाफ़ हो रहे कार्यक्रम अब भारत का आंतरिक मामला नहीं है वह मुस्लिम समुदाय OIC का है अतः चेतावनी को कड़े रूप में और मानवता को बरकरार रखने में भारत सहयोग करें.
 
इस बाबत हाल ही में ईरान ने भी एक बयान जारी किया था जिसमें भारत में मुस्लिमों के ऊपर सुनियोजित ढंग सेह’मला करने और उनके खिलाफअ’त्याचार करने के आरोप लगाए थे.
 
Image result for saudi oic
 
नोट:  भारत मैं इस दिल्ली घटना के बाद कई बड़े मीडिया चैनल समुदाय विशेष होकर अपनी हितैषी दिखाने की कोशिश कर रहे हैं और विदेशी दबाव डालने का भारत पर प्रयास कर रहे हैं लेकिन जो लोग असल में दिल्ली में थे या इस पूरे घटनाक्रम की हकीकत जानते हैं वह  यह जरूर जानते हैं कि छती केवल एक समुदाय की नहीं हुई थी दोनों समुदाय की हुई थी और कानून दोनों समुदाय के लोगों ने अपने हाथ में लिए थे आता भारत पर इस प्रकार के विदेशी प्रभाव डालने के लिए कई बड़े मीडिया चैनल लगातार इस तरह की खबरें प्रकाशित कर रहे हैं.
 
मध्य एशिया के अरब देश सऊदीअरबिया नेम भारत में हाल ही में हुएघटनाओं पर चिंता व्यक्त किया है.  और इस बाबत मध्य एशिया की सबसे बड़ी वेबसाइट gulfnews ने एक व्यापक कवरेज रिपोर्ट छापी हैं. जिसमें उसने कहा है. भारत में मुस्लिम समुदाय के ख़िलाफ़ हो रहे कार्यक्रम अब भारत का आंतरिक मामला नहीं है वह मुस्लिम समुदाय OIC का है अतः चेतावनी को कड़े रूप में और मानवता को बरकरार रखने में भारत सहयोग करें.
Image result for saudi oic
 हाल ही में हुए भारत के घटनाओं को देखें तो यह 200 मिलियन मुस्लिम माइनॉरिटी के खिलाफ हिंदुओं के तरफ से तलवारऔरहथियार सेहमले बढ़ गए हैं जोकि विश्व समुदाय के लिए चिंता का विषय है.  मुस्लिम जगत के सबसे बड़े ऑर्गेनाइजेशन ओआईसी जिसका हेड क्वार्टर सऊदी अरब के jeddah शहर में है अब तक चुप था लेकिन अब वह काफी कड़े बातों के साथ सामने आएगा.
 
 भारत में हुए भीषण घटना के दौरान दर्जनों निर्दोष मुसलमान नागरिकों को मौ’तके घाट उतार दिया गया और इसी के मध्य नजर वह आईसी ने ने कहा मोदी के द्वारा चलाए जा रहे भाजपा समर्थित सरकार me मुस्लिम समुदाय के ऊपर  ज़्यादती हो रही है, मस्जिद गिराए जा रहे हैं अतः भारत को मुस्लिम समुदाय और इस्लामिक पवित्र स्थानों के सुरक्षा के लिए कड़े कदम उठाने चाहिए.

OIC के बयान के बाद यूएन राइट्स के प्रमुख ने भी भारत में चल रहे सी ए ए के ऊपर अपनी टिप्पणी की जिसमें उन्होंने कहा कि यह मुस्लिमों के साथ एक भेदभाव पूर्ण कार्य है.  और इससे मुस्लिमों के ऊपर सुनियोजित ढंग से अ’त्या’चार करने में आसानी होगी और इसका सबसे हालिया उदाहरण दिल्ली में हुई घटनाएं हैं.
 
 भारत में चल रहे शांतिपूर्ण शाहीन बाग आंदोलन के दरमियां भाजपा के नेता कपिल मिश्रा ने कई भड़काऊ भाषण दिए जिसके बाद हिंदुओं की बड़ी फौज उनके समर्थन में आ गई और शाहीन बाग को तितर-बितर करने के लिए बल प्रयोग करना शुरू किया जिसके फलस्वरूपहिंसाभड़क गई और दिल्ली का यहकांड हो गया.
 
इस बाबत हाल ही में ईरान ने भी एक बयान जारी किया था जिसमें भारत में मुस्लिमों के ऊपर सुनियोजित ढंग से हमला करने और उनके खिलाफअ’त्याचार करने के आरोप लगाए थे.

नोट:  भारत मैं इस दिल्ली घटना के बाद कई बड़े मीडिया चैनल समुदाय विशेष होकर अपनी हितैषी दिखाने की कोशिश कर रहे हैं और विदेशी दबाव डालने का भारत पर प्रयास कर रहे हैं लेकिन जो लोग असल में दिल्ली में थे या इस पूरे घटनाक्रम की हकीकत जानते हैं वह  यह जरूर जानते हैं कि छती केवल एक समुदाय की नहीं हुई थी दोनों समुदाय की हुई थी और कानून दोनों समुदाय के लोगों ने अपने हाथ में लिए थे आता भारत पर इस प्रकार के विदेशी प्रभाव डालने के लिए कई बड़े मीडिया चैनल लगातार इस तरह की खबरें प्रकाशित कर रहे हैं,  हमने आपको जो आज रूपांतरण दिखाया वह अरब देश से प्रकाशित होने वाले समाचार पोर्टल गल्फ न्यूज़ का था.
 

Leave a Reply