Month: May 2020

UAE, साउदी, क़तर, कुवैत, बहरीन में भारतीय कामगार जल्द होंगे अपने देश में, योजना तैयार, लिस्ट पर काम जारी
Bahrain, India, Kuwait, Oman, Qatar, Saudi, UAE

UAE, साउदी, क़तर, कुवैत, बहरीन में भारतीय कामगार जल्द होंगे अपने देश में, योजना तैयार, लिस्ट पर काम जारी

भारतीय नौसेना के चीफ एडमिरल कर्मवीर सिंह  शुक्रवार को कहा भारतीय नागरिकों को खाड़ी देशों से लेकर आने के लिए नौसेना तैयार हो चुकी है और उसने अपना प्लान भारत सरकार को सौंप दिया है और अब बस भारत सरकार के तरफ से आधिकारिक आदेश का इंतजार किया जा रहा है.     भारतीय नागरिकों को वापस लाने के लिए  वायु यान को भी स्टैंडबाई मोड में रखा गया.  भारत में LOCKDOWN 3.0  जारी कर दिया है और उसके साथ ही उसने  कुछ  कढ़ाई के साथ निजी वाहनों को छूट भी जारी किया है. जिसके जरिए एक चालक के संग 2  यात्री सफर कर सकेंगे.   हालांकि भारत सरकार ने साफ कहा है “खाड़ी देशों  या विदेशों से आने वाले  समस्त नागरिकों को 14 दिन का अनिवार्य क्वॉरेंटाइन जरूर  रखना होगा,  तत्पश्चात ही वह अपने राज्य जा सकेंगे”.   कतर, कुवैत, बहरीन, सऊदी अरब, संयुक्त अरब अमीरात संग  कई देशों में भारतीय दूतावास में फंसे हुए लोगों क...
अरब देशों में 1 लाख भारतीय कामगार नौकरी से निकाले गए, भारत लौटने के लिए भरा FORM
India, UAE

अरब देशों में 1 लाख भारतीय कामगार नौकरी से निकाले गए, भारत लौटने के लिए भरा FORM

तेलंगाना के मंत्री बोले-2 करोड़ लोग अन्य राज्यों फंसे, बस से नहीं ला सकेंगे केरल के मुख्यमंत्री पी विजयन ने मीडिया से कहा है कि चार दिनों में तीन लाख से अधिक एनआरआई ने केरल लौटने के लिए राज्य सरकार के पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराया है। इनमें से एक लाख ने लौटने का कारण जॉब चले जाना बताया है। अन्य लोगों ने वीसा खत्म होना, जेल से रिहाई, सालाना छुट्‌टी जैसे कारण बताए हैं। पंजीयन कराने वाले लोगों में 9561 बच्चे और 9,515 गर्भवती महिलाएं हैं। राज्य सरकार ने मूलत: केरल निवासी एनआरआई के लिए अलग विभाग बनाया है। इसके पोर्टल पर एनआरआई अपना रजिस्ट्रेशन कराते हैं।   उधर, तेलंगाना के मंत्री टीएस यादव ने कहा कि अलग-अलग राज्यों में दो करोड़ से ज्यादा लोग लॉकडाउन में फंसे हैं। उनकी वापसी के लिए केंद्र सरकार की गाइडलाइंस सटीक नहीं है। ये लोग कैसे इतनी गर्मी में तीन-चार दिन का सफर कर सकेंगे। इन्हें बसों से इ...
कुवैत में आज फिर कोरोना से इतने कामगारों की मौत, देखे देश उम्र और जानकारियों की लिस्ट
Kuwait

कुवैत में आज फिर कोरोना से इतने कामगारों की मौत, देखे देश उम्र और जानकारियों की लिस्ट

कुवैत के स्वास्थ्य मंत्रालय ने 353 कोविड-19 के नए मामले की जानकारी दी है.  और इसके साथ ही कुवैत में कुल संख्या 4377 कोविड-19 संक्रमित लोगों की हो गई है.  मंत्रालय ने आज 4  व्यक्तियों के देहांत होने के  आंकड़े भी जारी किए गए और इसके साथ ही कुवैत में कुल देहांत की संख्या 30 हो गई. मीडिया प्रेस को दिए गए बयान के अनुसार 70 लोगों को आईसीयू में रखा गया है जिसमें 36 लोगों की स्थिति नाजुक बनी हुई है.  और इस वक्त 2743 अस्पतालों में अपना इलाज करवा रहे हैं.    आज के देहांत के आंकड़े इस प्रकार हैं:   72 साल का एक कुवैत का नागरिक  50 साल का एक बांग्लादेशी कामगार  45 साल का एक भारतीय  कामगार  61 साल का मिस्र का काम   देहांत हुए सारे  लोग आईसीयू में  भर्ती  थे.  स्वास्थ्य मंत्री  जानकारी देते हुए बताया आज कुवैत में 63 लोगों को छुट्टी दे दो और इसके साथ ही ठीक करने वाले लोग...
DUBAI एयरपोर्ट से उड़ी 312 FLIGHT. 37469 प्रवासी कामगार गए अपने देश, लाखों भारतीय जल्द भरेंगे उड़ान
UAE

DUBAI एयरपोर्ट से उड़ी 312 FLIGHT. 37469 प्रवासी कामगार गए अपने देश, लाखों भारतीय जल्द भरेंगे उड़ान

दुबई हवाई अड्डा गुरुवार को कहा की वह 37469  अलग-अलग राष्ट्रीयता के लोगों को उनके देश वापस संयुक्त अरब अमीरात के प्राधिकरण और उन देशों के दूतावासों के सहयोग से भेज दिया गया है. इसके लिए 54 एयरलाइन के द्वारा 312 फ्लाइट चलाए गए और सामान्य उड़ान के स्थगित होने के बावजूद भी उन्हें उनके देश पहुंचाया गया.  हवाई यात्रा के दौरान वायरस के मद्देनजर  सारे सुरक्षा उपायों के ख्याल रखें.   मार्च के अंत से उड़ान सेवा स्थगित करने के उपरांत स्पेशल उड़ानों को मंजूरी दी गई है और लगातार संयुक्त अरब अमीरात में फंसे हुए प्रवासियों को उनके देश पहुंचाने का कार्यक्रम चलाया जा रहा है.  इस वक्त अमीरात एयरलाइन और फ्लाई दुबई सबसे ज्यादा उड़ान भरने वाले कंपनी बन गए हैं. अब तक पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस ने 2130 नागरिकों को संयुक्त अरब अमीरात से अपने स्पेशल 10 उड़ान के जरिए वापस ले गया है.  इसके साथ ही काफी संख्य...
भारत में धार्मिक उदंडता, पूरे विश्व में BLACKLIST करने की ज़रूरत. भारत ने कहा रिपोर्ट का इलाज होगा.
India

भारत में धार्मिक उदंडता, पूरे विश्व में BLACKLIST करने की ज़रूरत. भारत ने कहा रिपोर्ट का इलाज होगा.

एक प्रभावशाली अमेरिकी आस्था अधिकार संगठन ने भारत को विशेष रूप से मुस्लिमों के लिए धार्मिक स्वतंत्रता के अपने "संबंधित" उल्लंघनों पर विश्व स्तर पर ब्लैकलिस्ट करने का आह्वान किया है।   राजनीतिक विश्लेषकों ने बुधवार को अरब न्यूज़ को बताया कि नई दिल्ली के लिए अंतर्राष्ट्रीय धार्मिक स्वतंत्रता (USCIRF) पर अमेरिकी आयोग द्वारा एक हानिकारक रिपोर्ट के निष्कर्षों से भारत की "भारी प्रतिष्ठित क्षति" होगी।   यूएससीआईएफआर ने दावा किया कि 2019 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की भारी चुनावी जीत के बाद, राष्ट्रीय सरकार ने “पूरे भारत में धार्मिक स्वतंत्रता का उल्लंघन करने वाली राष्ट्रीय स्तर की नीतियों का उपयोग करने के लिए अपने संसदीय बहुमत का इस्तेमाल किया, खासकर मुसलमानों के लिए।” लेकिन मंगलवार को एक बयान में, भारत के विदेश मंत्रालय ने कहा: "हम USCIRF की वार्षिक रिप...
error: Copying content may lead to Jail, Vikas and Aslam is in Delhi and MP Jails