Fact: भारत में शराब से ख़त्म किया जा रहा हैं कोरोना, आजतक और कई NEWSPAPER के फ़ोटो ग़लत VIRAL

सोशल मीडिया पर दावा किया गया है कि, अल्कोहल से कोरोना वायरस को खत्म किया जा सकता है। एक अखबार की कटिंग शेयर कर लिखा जा रहा है कि, शराब पीने वालों को कोरोना वायरस नहीं होगा। एक पाठक ने हमें यह कटिंग पुष्टि के लिए भेजी। पड़ताल में वायरल दावा झूठा निकला।
क्या वायरल

  • सोशल मीडिया पर शिवसेना के मुखपत्र सामना में प्रकाशित एक खबर को वायरल किया गया है।



 

 

  • खबर का शीर्षक है ‘अब कैस रोना! एक पैग में पैक होगा कोरोना!’
  • एक यूजर ने इसे शेयर करते हुए लिखा कि, दारू पीने वालों को नहीं होगा कोरोना वायरस।
  • इस आर्टिकल को 14 फरवरी 2020 को प्रकाशित किया गया है।

क्या है सच्चाई

  • इस दावे की सच्चाई के लिए सबसे पहले हमने वायरल खबर में दी जा रही जानकारी की ही पुष्टि की। खबर में लिखा है कि, ‘एक रिसर्च में यह बात सामने आई है कि एक पैग में पैक हो जाएगा कोरोना। यह कोई मजाक नहीं बल्कि जर्मनी में इस बारे में शोध हुआ है’। हालांकि इसमें इस बात का कहीं भी जिक्र नहीं किया गया कि, यह रिसर्च आखिर की किसने है। शीर्षक एक्स्क्लमेशन (विस्मयादिबोधक) चिन्ह के साथ लिखा गया है।
  • दावा है कि कोरोना वायरस महज 15 सेकंड में इधर से उधर फैल जाता है। इस तथ्य की पुष्टि करने वाली भी कोई भी थ्योरी अभी तक सामने नहीं आई।
  • फिर हमने इस तथ्य की पुष्टि के लिए वर्ल्ड हेल्थ ओर्गनाइजेशन (WHO) द्वारा कोरोना वायरस को लेकर जारी की गई गाइडलाइंस को खंगाला।


 

  • डब्ल्यूएचओ ने कोरोना से बचाव को लेकर जारी की गई गाइडलाइंस में अल्कोहल का जिक्र तो किया है, लेकिन कहीं भी ये नहीं लिखा कि अल्कोहल कन्सम्प्शन (शराब पीने) से कोरोना वायरस से बचा जा सकता है।
  • डब्ल्यूएचओ के मुताबिक, अपने हाथों को साबुन और पानी से बार-बार धोएं और गंदा होने पर अल्कोहल बेस्ड हेंडवॉश का इस्तेमाल कर सकते हैं, इससे हाथों में आए वायरस खत्म हो जाते हैं, इसलिए इसके इस्तेमाल की सलाह दी गई है।

 

असल कहानी क्या है?

दरअसल पूरी दुनिया इस वक्त कोरोना से लड़ने की जद्दोजहद में जुटी हुई है। लगभग दुनिया का हर देश इसका तोड़ निकालने में जुटा हुआ है। दुनिया की हर लैब में इसके पैटर्न की जांच और नए टीके की खोज की जा रही है। वैज्ञानिकों के अनुसार इस नए वायरस के टीके को विकसित करने के लिए करीब छः महीने का वक्त लग सकता है, तब तक इससे बचाव ही इसका उपचार है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इसके लिए बचाव में भोज्य पदार्थ सामग्री चयन करने में ज्यादा ध्यान दिया है और व्यक्तिगत साफ सफाई को ज्यादा तवज्जो देने की बात कही है। इसी क्रम में डब्लू एच ओ ने एल्कोहल बेस्ड हैंडवाश से हांथो को बार-बार धुलने की बात कही है क्योंकि कोरोना वायरस एल्कोहल बेस्ड हैंडवाश से जल्दी खत्म हो जाता है तथा यह खुद को निष्क्रिय कर देता है और इसमें पानी भी बर्बाद नही होता।
 
हालाँकि जैसे ही एल्कोहल का नाम आआया लोगों ने इसके लिए जीव विज्ञान के नए पैमाने गढ़ लिए और इसे आमजन में सर्कुलेट भी कर दिया।
तो आपको समझदारी बरतनी होगी, कोरोना वायरस को एल्कोहल बेस्ड हैंडवाश से मारा जा सकता है शराब पीकर नहीं, सजग रहें और स्वस्थ्य रहें।

About Lov Singh

बिहार से हूँ, भारतीय होने पर गर्व हैं. मध्य पूर्व Asia से रूबरू कराता हूँ और फ़र्ज़ी खबरों की क्लास लगाता हूँ.
Download Gulfhindi MOBILE APP

Leave a Reply