बड़ी खबर : छुट्टी के दिन भी खुले रहेंगे भारतीय वाणिज्य दूतावास, जाने क्या है पूरा मामला

1 अगस्त से दुबई में भारत का महावाणिज्य दूतावास हर साप्ताहिक छूट्टी और सार्वजनिक अवकाश पर भी खुला रहेगा। इस बात की सूचना कौंसल-जनरल डॉ अमन पुरी ने खुद एक आधिकारिक वेबसाइट को दी है।

गौरतलब है कि भारतीय राजनयिक ने आधिकारिक तौर पर 19 जुलाई रविवार को दुबई में वाणिज्य दूतावास का कार्यभार संभाला है। इस दौरान कोविड-19 महामारी के कारण वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए उन्होंने कहा कि वाणिज्य दूतावास सप्ताह के सभी दिनों में खुला रहेगा, जिसमें सप्ताहांत और सार्वजनिक अवकाश शामिल हैं।

उन्होंने कहा कि “1 अगस्त से 31 दिसंबर तक छुट्टियों के दिन सुबह 8 बजे से 10 बजे तक वाणिज्य दूतावास खुला रहेगा। एक खुले घर के विपरीत, आपातकालीन आवश्यकताओं के लिए कॉन्सुलर सेवाएं उपलब्ध कराई जाएंगी जैसे कि आपातकालीन यात्रा के लिए पासपोर्ट नवीनीकरण, आदि।

भारतीय राजनयिक डॉ अमन पुरी ने कहा कि स्थिति के आधार पर, सप्ताह के सभी दिनों में वाणिज्य दूतावास को खुला रखने का निर्णय भी समीक्षा के अधीन है। उन्होंने आगे कहा कि हमें लगता है कि आने वाले दिन कठिन होने वाले हैं और लोगों को हमारे समर्थन की आवश्यकता हो सकती है। हालांकि, यह कुछ नया नहीं है। पदों और मिशनों में हमारे सहयोगी (INDIANS) हमेशा संकटग्रस्त भारतीयों के समर्थन में आगे आए हैं। यहां दुबई में हमारा समुदाय बड़ा है, यहां की जरूरतें भी बड़ी हैं।  ऐसे हालातों में हम सबको एकजुट होकर काम करना होगा ।

डॉ अमन पुरी ने कहा कि यूएई में फंसे भारतीयों के प्रत्यावर्तन की दिशा में समर्थन जारी रखना उनकी सबसे पहली प्राथमिकता है। पुरी ने कहा कि “एक प्राथमिकता के रूप में, हम घर लौटने के लिए दुबई में फंसे भारतीयों का समर्थन करना जारी रखेंगे। अब तक, वाणिज्य दूतावास ने 170,000 भारतीयों को दुबई और उत्तरी अमीरात से वापस उनके घर भेजने में मदद की है।”

गौरतलब है कि 170,000 में से, कुल 40,000 वंदे भारत मिशन प्रत्यावर्तन उड़ानों पर निकल चुके हैं, और 130,000 ने निजी कंपनियों और सामुदायिक समूहों द्वारा आयोजित चार्टर्ड उड़ानों का उपयोग किया है। डॉ। पुरी ने बताया कि “हमारे पास दुनियाभर के सबसे ज्यादा प्रवासियों की संख्या है। हालांकि, अब वंदे भारत मिशन के तहत दबाव कम हो गया है क्योंकि यात्रा करने के इच्छुक लोगों की तत्काल जरूरतों को पूरा कर लिया गया है।”

उन्होंने कहा, “उड़ानों का संचालन जारी है। इसके अलावा, भारत सरकार ने विभिन्न देशों से भारत में यात्रा को और अधिक सरल बनाया है, और हम आने वाले दिनों में और प्रगति की उम्मीद कर रहे हैं।” वही इस मामले पर महावाणिज्य दूतावास ने भी आश्वासन दिया है कि वाणिज्य दूतावास हर संभव तरीके से पीड़ित भारतीयों का समर्थन करना जारी रखेगा। उन्होंने कहा कि कोविड-19 महामारी से सीधे तौर पर प्रभावित हुए लोगों के साथ ही नहीं, बल्कि दूतावास उन लोगों के भी साथ है जो मौजूदा संकट के कारण आर्थिक संकट झेले हैं।

बता दे डॉ पुरी ने पूर्व महावाणिज्य दूत विपुल का स्थान लिया, जो 11 जुलाई को दिल्ली में अपने नए पद के लिए रवाना हो गए। मालूम हो कि वह दुबई के महावाणिज्य दूत के रूप में कार्यभार संभालने से पहले ब्रिटेन के बर्मिंघम में भारतीय मिशन की कमान संभाल रहे थे।

Leave a Reply