सऊदी में भारतीय कामगार की मौत, चार साल पहले सऊदी गया था बेटा, मौत के 28 दिन बाद आज सफेद चादर में आया शव

एक नजर पूरी खबर

  • सऊदी में भारतीय कामगार की मौत
  • मौत के 28 दिन बाद आज सफेद चादर में आया शव
  • परिवार सहित गांव में पसरा मातम

 

25 साल के बेटे का शव वतन लाने के लिए दर-दर भटक रहे परिजन की आंखे उस वक्त ठहर गई जब 21 साल का बेटा जो सऊदी काम करने गया था वह 25 साल की उम्र में सफेद चादर में आया। लंबे इंतजार के बाद मृतक सुखदेव को देख पाने की आस तो पूरी हो गई, लेकिन उसके शरूर पर पड़ी सफेद चादर ने उन्हें बेसुध कर दिया।

 

दरअसल 28 दिन के बाद 25 वर्षीय सुखदेव सिंह का शव सऊदी अरब से गांव पहाड़ीपुर पहुंचा। सांसद सनी दियोल के प्रयासों के बाद शव भारत पहुंचा और वीरवार सुबह उसे पैतृक गांव पहाड़ीपुर लाया गया। नौजवान बेटे के शव को देखते ही परिजनों में चीख-पुकार मच गई और पूरा गांव गम में डूब गया।

 

बता दे सुखदेव परिवार के एकलौते बेटे थे। परिवार अपने इकलौते बेटे को मृत पड़ा देख बेसुध हो गया। वहीं कल मृतक का अंतिम संस्कार श्मशानघाट में कर दिया गया। विधायक जोगिदर पाल, आम आदमी पार्टी के नेता लालचंद कटारुचक्क भी पहुंचे और उन्होंने परिवार से संवेदना प्रकट की। बता दें कि सुखदेव के शव को गांव लाने का मुद्दा दैनिक जागरण ने प्रमुखता से उठाया था। परिवार की स्थिति और उनकी गुहार को सरकार व सांसद तक पहुंचाया गया। उसी के बाद सांसद सनी देयोल सुखदेव के शव को वापस लाए। सात अगस्त को हुआ था हादसा

 

सऊदी अरब में सात अगस्त को सुखदेव सिंह की मौत एक सड़क हादसे में हो गई थी। 4 साल से सऊदी अरब की एक कंपनी में वह ट्रक चालक था। हादसे के बाद सुखदेव का शव भारत नहीं आ रहा था। मृतक के पिता जोगिदर सिंह ने सांसद सनी देयोल से गुहार भी लगाई थी, जिसके बाद सुखदेव का शव भारत लाया गया।

Leave a Reply