दुबई के क्राउन प्रिंस का फरमान, कहा- अब आमने-सामने नहीं बल्कि एक साथ काम करेंगी प्राइवेट-निजी कंपनियां

एक नजर पूरी खबर

  • दुबई के क्राउन प्रिंस शेख हमदान का नया बयान
  • कहा- सरकारी और निजी कंपनिया एक साथ करेंगी देश हित के लिए काम
  • देश की अर्थव्यवस्था का वापस पटरी पर लौटना बेहद जरूरी

Sheikh Hamdan gulf hindi

दुबई के क्राउन प्रिंस और दुबई कार्यकारी परिषद के अध्यक्ष शेख हमदान बिन मोहम्मद बिन राशिद अल मकतूम ने कहा कि अमीरात के विधायी ढांचे का निरंतर विकास दुबई के रणनीतिक उद्देश्यों की प्राप्ति के लिए महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि कानूनी ढांचे की वृद्धि विभिन्न क्षेत्रों की विकास संभावनाओं को बढ़ाने में सबसे जरूरी है।

इसके साथ ही कोरोना काल में आई आर्थिक गिरावट को वापस विकास की दिशा में लाने और निवेश को बढ़ावा देने के लिए यूएई और दुबई के शासक और उप-राष्ट्रपति, प्रधान मंत्री, शेख मोहम्मद बिन राशिद अल मकतौम के निर्देशों को लागू करने के तौर पर, दुबई को एक मजबूत और विकसित देश बनाने के लिए बेहद महत्व रखता है। इसके लिए हमें सार्वजनिक और निजी क्षेत्रों के लिए समान अवसरों की सुविधा उपल्बध करानी होगी।

उन्होंने कहा कि नए नियमों और कानूनों को लागू कर निजी क्षेत्र में राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था के भविष्य को आकार देने और सतत विकास प्राप्त करने को लेकर हम बेहद उत्साहित है। ऐसे में कानून का यह विधायी ढांचा उनके हितों की रक्षा करेगा है और उनकी वृद्धि और सफलता के लिए महत्वपूर्ण साबित होगा।”

उन्होंने कहा कि “हम निजी क्षेत्र के लिए एक प्रतियोगी नहीं बनना चाहते हैं, बल्कि इसे पूरक बनाना चाहते हैं। सार्वजनिक और निजी क्षेत्रों के बीच साझेदारी दुबई के सतत विकास के लिए महत्वपूर्ण मूल्य जोड़ती है।”

बता दे शेख हमदान का ये जारी फमान उस वक्त सामने आया जब उन्होंने दुबई सरकार संस्थाओं द्वारा कंपनियों की स्थापना के नियमों, शर्तों और विनियमों पर 2020 की कार्यकारी परिषद संकल्प संख्या (23) जारी की। बता दे जारी यह प्रस्ताव अंतरराष्ट्रीय सर्वोत्तम प्रथाओं के अनुरूप सरकारी स्वामित्व वाली कंपनियों की स्थापना के लिए प्रक्रियाओं का मानकीकरण करता है। यह विभिन्न क्षेत्रों में निवेश को प्रोत्साहित करने और सरकार के स्वामित्व वाली कंपनियों में मजबूत शासन सुनिश्चित करना चाहता है। साथ ही निजी कंपनियों को भी कई नए अवसर प्रदान करता है।

 

 

Leave a Reply