ईरान के खिलाफ एकजुट हुए सभी खाड़ी देश, संयुक्त राष्ट्र के प्रतिबंधों को आगे बढ़ाने पर जताई रजामंदी

एक नजर पूरी खबर

  • ईरान के खिलाफ एकजुट हुए सभी खाड़ी देश
  • UN के सामने लगाई हथियारों के प्रतिबंध को जारी रखने की अपील
  • जारी रह सकती है ईरान पर हथियारों की खरीद को लेकर लगी पाबंदी

Iran v. Saudi Arabia: Sectarianism, Realism, and Foreign Policy in ...

ईरान की लगातार बढ़ रही हरकतों को देखते हुए उसके खिलाफ खाड़ी के छह देश खड़े हो गए हैं। सऊदी अरब समेत ये देश अपने आंतरिक कलहों को छोड़कर ईरान पर हथियारों को लेकर लगे संयुक्त राष्ट्र (UN) के प्रतिबंधों को आगे बढ़ाने की वकालत कर रहे हैं।

गौरतलब है कि ईरान पर लगे ये प्रतिबंध दो महीने में समाप्त होने वाले हैं। ऐसे में खाड़ी सहयोग परिषद के अनुसार उन्होंने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद को पत्र लिखकर इस समर्थन के लिए अवगत कराया है। इसके साथ ही ईरान पर लगे प्रतिबंधों को आगे बढ़ाने की मांग की है।

याद दिला दे ईरान पर लगे प्रतिबंध की वजह से ईरान विदेश में निर्मित युद्धक विमान( Fighter Plane) ,टैंक और हथियारो को नहीं खरीद सकेगा। खाड़ी सहयोग परिषद में छह देश बहरीन, कुवैत, ओमान, कतर, सऊदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात शामिल हैं। परिषद का आरोप है कि ईरान लगातार पड़ोसी देशों के मामलों में दखल देना बंद नहीं किया है। इस काम में कुछ संगठन ईरान की मदद कर रहे हैं। ईरान उन्हें हथियार मुहैया करा रहा है। इन देशों का कहना है कि ऐसे संगठन ईरान की ओर से प्रशिक्षित किए गए होते हैं।

सऊदी अरब का यमन में हूती विद्रोहियों के साथ युद्ध जारी है। संयुक्त राष्ट्र का हूती विद्रोहियों के बारे में कहना है कि उसे हथियारों की आपूर्ति ईरान से होती रही है। हालांकि ईरान हूतियों को हथियार और जरूरी चीजें मुहैया कराने से हमेशा इनकार करता रहता है।

Leave a Reply