देश मे हर जगह चल रहीं स्वतंत्रता दिवस की तैयारियां, भारत के अलावा ये चार देश भी हुए थे इस दिन आजाद

15 अगस्त, 1947 भारतीय इतिहास का वो दिन, जिस दिन भारत की सरजमी तिरंगे रंग में लथपथ नजर आती है। हर देशवासी की आंखों में एक अलग ही चमक होती है। इस दिन भारत को लंबे संघर्ष के बाद आजादी प्राप्त हुई थी। हर साल इस दिन को बड़े ही धूम- धाम से मनाया जाता है।

Independence day: जब 15 अगस्त को ही आजाद हुए ...

बता दे इस साल भारत 74वां स्वतंत्र दिवस मनाने जा रहा है। भारत की आजादी में कई वीरों का अहम योगदान रहा है। 15 अगस्त का दिन भारत के लिए काफी महत्वपूर्ण है। आज हम आपको 15 अगस्त से जुड़ी कुछ रोचक बातें बताएंगे। आइए जानते हैं 15 अगस्त से जुड़ी रोचक किस्से जिनके बारें में पढ़कर आपकों खासा हैरानी होगी…

15 अगस्त, 1947 का दिन बेहद ऐतिहासिक है, इस दिन भारत के अलावा अन्य चार देश  भी अपना आजादी दिवस मनाते हैं। आईये आपकों संक्षिप्त में बताते है इन देशों की आजादी की कहानी…

independence-day special story

साउथ कोरिया – ये बात सभी जानते है कि भारत की तरह साउथ कोरिया भी कैद देश था। साउथ कोरिया पर उस दौरान जापान का राज चलता था, जापानी कॉलोनाइजेशन से साउथ कोरिया को भारत से दो साल पहले मुक्ति हासिल हुई थी। साउथ कोरिया 15 अगस्त 1945 को आजाद हुआ था। बता दे साउथ कोरिया को भी अपनी आजादी के लिए जापान से लंबी लड़ाई लड़नी पड़ी थी।

independence-day special story

नॉर्थ कोरिया – इसके अलावा साउथ कोरिया की आजादी के साथ ही नार्थ कोरिया ने अपना विभाजन किया और अलग हो गया, पहले ये एक ही देश था। जैसै भारत और पाकिस्तान बँटवारे के बाद अलग हो गए है ठीक उसी तरह, बँटवारे के बाद नॉर्थ कोरिया 15 अगस्त, 1945 की शाम को एक स्वतंत्र देश बना और साउथ कोरिया से अलग हो गया।

independence-day special story

बहरीन – भारत की ही तरह बहरीन पर भी ब्रिटिश सरकार कार राज था, यह देश मध्य-पूर्व में स्थित है। बहरीन बहुत ही छोटा देश है। जिस तरह भारत ग्रेट ब्रिटेन की गुलामी कर रहा था बहरीन का भी वही हाल था। भारत की तरह लंबी लड़ाई लड़ते हुए बहरीन ने ब्रिटिश सरकार को बाहर को रास्ता दिखाया और  15 अगस्त, 1971 को बहरीन एक स्वतंत्र देश बन गया।

independence-day special story

कांगो – अफ्रीका का तीसरा सबसे बड़ा देश कांगो बीते समय में काफी लंबे समय तक फ्रांस की गुलामी कर रहा था। भारत की तरह वहां के लोगों ने भी आजादी के लिए बेहद लंबा संघर्ष किया है। कांगो की आजादी के किस्से भी भारत की तरह दुनिया भर में खासा सुर्खियों का केन्द्र रहे है। लंबी जंग के बाग 15 अगस्त, 1960 को उसे आजादी मिली थी।

 

Leave a Reply