भारत में भी लगा भीषण आग, 8 लोगों की मौत, PM मोदी ने जताया दुःख

अहमदाबाद शहर के नवरंगपुरा इलाके में कोविड-19 नामित श्रेय अस्पताल में गुरुवार तड़के लगभग 3-30 बजे आग लग गई। इस भयानक आग में पांच पुरुष और तीन महिलाओं सहित आठ मरीजों की मौत हुई है। इस दौरान प्लास्टिक से बनी पीपीई किट पहने कर्मचारी भी बुरी तरह से झुलसे हैं।हालांकि दमकल विभाग आग लगने के कारणों की जांच कर रहा है लेकिन फिलहाल आग लगने का कारण शॉर्ट सर्किट बताया जा रहा है। स्वास्थ्य सचिव जयंती रवि मौके पर पहुंची हैं। उन्होंने कहा कि पूरी घटना की निष्पक्ष जांच की जाएगी। फिलहाल अस्पताल के बाहर मृतकों के परिवारों और पुलिस के बीच तनातनी का माहौल है और झड़पें भी हुई हैं। पुलिस ने अस्पताल के संचालक भारत महंत को हिरासत में लिया है।

 

अहमदाबाद शहर के नवरंगपुरा इलाके में श्रेय अस्पताल है जिसमें 50 बिस्तर कोविड मरीजों के लिए आरक्षित हैं। यहां इस समय 50 से अधिक कोरोना रोगियों का इलाज किया जा रहा था। गुरुवार तड़के लगभग 3-30 बजे अचानक आग लगने से अफरा-तफरी मच गई। अस्पताल से मरीजों को बाहर निकालने का काम शुरू करके गया 41 मरीजों को बचा लिया गया जिन्हें एसवीपी अस्पताल में स्थानांतरित कर दिया गया है। इस बीच अस्पताल में भर्ती लीलावती शाह, आयशाबेन तिर्मिज़ी, नवनीतलाल शाह, नरेंद्र शाह, मनुभाई रामी, अरविंदभाई भावसार, ज्योतिबेन सिंधी, आरिफ मंसूरी को नहीं बचाया जा सका। हादसे में मरने वाले मरीजों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। घटना की जानकारी मिलने पर आज सुबह मृतक मरीजों और दूसरे अस्पताल में स्थानांतरित मरीजों के परिजन अस्पताल पहुंचे और हंगामा करना शुरू कर दिया। इस वजह से अस्पताल के बाहर पुलिस के साथ कई बार झड़पें हुई हैं और तनातनी का माहौल बना हुआ है।

 

 

अतिरिक्त मुख्य अग्निशमन अधिकारी राजेश भट्ट ने बताया कि दमकल विभाग को आधी रात को 3:30 बजे आग लगने के बारे में सूचना मिली। इस पर लगभग 35 अग्निशामक और 15 वाहन के साथ घटनास्थल पर पहुंचे और आग बुझाई। दमकल कर्मियों के सहयोग से अस्पताल के 41 मरीजों को सुरक्षित निकालकर एसवीपी अस्पताल में स्थानांतरित किया गया। पूरा श्रेय अस्पताल को खाली कराकर सील कर दिया गया है। देर रात मरीजों को अन्य अस्पताल में स्थानांतरित करते समय कोविड मरीजों के संपर्क में आए 35 दमकलकर्मियों ने स्वयं को संगरोध कर लिया है।

सीएम विजय रूपाणी ने अहमदाबाद के श्रेय अस्पताल में आग लगने की घटना की जांच के आदेश दिए हैं। गृह विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव संगीता सिंह जांच का नेतृत्व करेंगी। मुख्यमंत्री ने 3 दिनों के भीतर जांच रिपोर्ट मांगी है। गुजरात सरकार के अतिरिक्त मुख्य सचिव राजीव कुमार गुप्ता ने बताया है कि श्रेय अस्पताल को सील कर दिया गया है। अस्पताल के 41 मरीजों को सरदार वल्लभभाई पटेल अस्पताल में स्थानांतरित किया गया है।

पुलिस अधिकारियों का कहना है कि अस्पताल में आग लगने की जांच तथ्यों के आधार पर जांच की जाएगी और मामला दर्ज करने की प्रक्रिया को अंजाम दिया जाएगा। फिलहाल पुलिस ने अस्पताल के संचालक भारत महंत को हिरासत में ले लिया है।

About Lov Singh

बिहार से हूँ, भारतीय होने पर गर्व हैं. मध्य पूर्व Asia से रूबरू कराता हूँ और फ़र्ज़ी खबरों की क्लास लगाता हूँ.
Download Gulfhindi MOBILE APP

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *