विदेश से भारत लौटने का अंतिम तारीख़ 21 मार्च, इसके बाद लैंड नही करने दिए जाएँगे विमान

कोरोना वायरस के चलते देशभर में marne वालों की संख्या अब चार हो गई है। अब लगतार बढ़ रहे कोरोना के संक्रमण को देखते हुए सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। सरकार ने 22 मार्च से विदेशी फ्लाइट्स की उड़ानों की भारत में लैंडिंग पर रोक लगा दी है। इसके अलावा सरकार ने निजी कंपनियों को अपने कर्मचारियों को घर से काम कराने के निर्देश दिए हैं। इससे पहले स्पाइसजेट ने ज्यादातर इंटरनेशनल फ्लाइट कैंसिल कर दी थी।

भारत सरकार ने कोरोना वायरस को मात देने के लिए कई कदम उठाने के निर्देश दिए हैं। प्रेस कॉन्फ्रेंस करके जरूरी दिशा निर्देश जारी किए गए हैं। 22 मार्च से अगले एक हफ्ते तक कोई इंटरनेशनल फ्लाइट भारत नहीं आ सकेगी। कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए भारत सरकार ने विदेशी फ्लाइट्स के भारत में लैंडिंग पर रोक लगा दी है। इससे पहले स्पाइसजेट ने बयान जारी कर कहा था, हम 21 मार्च से 30 अप्रैल तक अपनी ज्यादातर इंटरनेशनल फ्लाइटों को निलंबित करने के लिए मजबूर हैं। हालात सामान्य होते ही हम फ्लाइटों को फिर से शुरू करेंगे।

इसके अलावा, 65 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को घरों के भीतर ही रहने के लिए राज्य सरकारों से एडवाइजरी जारी करने के लिए कहा गया है। इसमें जनप्रतिनिधि / सरकारी कर्मचारी / चिकित्सा पेशेवरों को छूट दी गई है। इसके आलावा दस वर्ष से कम उम्र के बच्चों को घर से बाहर ना जाने की सलाह दी गई है। रेलवे और नागरिक उड्डयन द्वारा छात्र, दिव्यांग और रोगी श्रेणी के यात्रियों को छोड़कर सभी छूट प्राप्त यात्राओं को निलंबित कर दिया गया है।

सभी राज्य सरकारों से अनुरोध किया गया है कि वे निजी क्षेत्र को कर्मचारियों को वर्क फ्रॉम होम की सुविधा देना सुनिश्चित करें। आधे केंद्रीय कर्मचारियों को घर से ही काम करना होगा। इस मामले में सरकार ने निर्णय लिया है कि बी और सी ग्रुप के सभी केंद्रीय कर्मचारी वैकल्पिक रूप से ऑफिस आएं। रेलवे में करीब 200 ट्रेनें रद्द, रेल टिकट पर मिलने वाले ज्यादातर कन्सेशन या रियायत बंद कर दी गई है। एयर ट्रेवल पर मिलने वाले रियायत बंद कर दी गई है।
 
 

About Lov Singh

बिहार से हूँ, भारतीय होने पर गर्व हैं. मध्य पूर्व Asia से रूबरू कराता हूँ और फ़र्ज़ी खबरों की क्लास लगाता हूँ.
Download Gulfhindi MOBILE APP

Leave a Reply