भारत: कुवैत में एक्सपर्ट्स कर रहे इंतजार, आखिर कब शुरू होंगी त्रिची के लिए उड़ान

एक नजर पूरी खबर

  • कुवैत में फंसे लाखों भारतीय
  • अब तक नहीं शुरू हुई कोई उड़ान
  • कोरोनावायरस के बीच जारी लॉकडाउन में कर रहे घर वापसी का इंतजार

कोरोनोवायरस लॉकडाउन के बाद भी सैकड़ों तमिलों के कुवैत में फंसे होने के बावजूद, वंदे भारत मिशन के तहत त्रिची तक एयर इंडिया एक्सप्रेस द्वारा अब तक एक भी सेवा नहीं चलाई है। हालाँकि 2 अगस्त से शुरू हुए मिशन के पाँचवें चरण में कुछ उड़ानों की उम्मीद की जा रही थी। वहीं अब तक इसी कोई आधिकारिक घोषणा नहीं की गई है।

पीएमके के संस्थापक एस. रामदास ने मंगलवार को कहा कि कुवैत में फंसे भारत तमिलों को तुरंत वापस लाया जाना चाहिए, शिविरों में विरोध प्रदर्शनों और बाद अब लोग पुलिस की हिंसा का शिकार हो रहे हैं। ऐसे हालातों में भारतीयों की वापसी बेहद जरूरी हो गई है।

इसी के साथ अपने एक बयान में, उन्होंने कहा कि यह निराशाजनक था कि केंद्र ने कई अपील के बावजूद तमिलों को वापस लाने के लिए कोई प्रयास नहीं किया है। अब तक कुल मिलाकर, 49 देशों को वंदे भारत मिशन के तहत दूसरे देशों से त्रिची तक हजारों भारतीयों की वापसी हो चुकी है।

सूत्रों के मुताबिक कुवैत में फंसे लगभग 20,000 भारतीय, वापसी के लिए चार महीने से इंतजार कर रहे हैं। कुवैत सरकार ने त्रिची में आठ सेवाओं की व्यवस्था की थी, जिसमें 909 लोगों को कुवैत एयरलाइंस के माध्यम से लाया गया था। जज़ीरा एयर और इंडिगो एयर ने 11 सेवाओं में 1,810 यात्रियों को वापस लाया। “हालांकि, टिकट किराया और त्रिची में कोविड -19 परीक्षण जैसे अन्य खर्च, निजी होटल में अलगाव और भोजन इसे अप्रभावी बनाते हैं। ऐसे में अब बिना सपोर्ट के उनके लिए यह करना मुश्किल हो गया है।

Leave a Reply