भारतीय कामगारों को वापस ले जाने का ऐलान, भारी संख्या में FLIGHT, लाखों आएँगे वापस

कोविद-19 ( Covid-19 ) संकट के कारण दुनिया भर में फंसे हुए नागरिकों को वापस लाने के लिए वंदे भारत मिशन ( Vande Bharat Mission ) के तीसरे चरण में प्राइवेट एयरलाइन्स ( Private Airlines ) को भी शमिल किया जा सकता है। इसका मकसद उड़ानों की संख्या बढ़ाना और ज्यादा से ज्यादा संख्या में विदेशों में फंसे भारतीयों की घर वापसी सुनिश्चित करना है।

तीसरा चरण 13 जून को दूसरा चरण समाप्त होने के बाद शुरू होगा। वंदे भारत मिशन के दूसरे चरण के दौरान अभी तक 47 देशों की 160 से अधिक उड़ानों में लगभग 32,000 नागरिकों को वापस लाने की योजना है। इस चरण की शुरुआत 16 मई हुआ था।

 

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ( MEA Spokesprson Anurag Shrivastav ) ने बताया कि इस मिशन का दूसरा चरण 13 जून तक चलेगा। उसके बाद तीसरा चरण शुरू होगा। इस चरण में निजी एयरलाइनों को शामिल किया जा सकता है। फिलहाल इस बात पर विचार मंथन जारी है कि इस मिशन में प्राइवेट एयरलाइन्स को किस आधार पर शामिल किया जाए ताकि हम उड़ानों की संख्या बढ़ा सकें।

पहले दो चरणों में सभी उड़ानें राज्य द्वारा संचालित एयर इंडिया ( Air India ) और इसकी सहायक एयर इंडिया एक्सप्रेस द्वारा संचालित की जा रही थीं। सरकार ने कुछ देशों के नागरिकों को वापस लाने के लिए वायु सेना ( Indian Air Force ) के परिवहन विमान और नौसेना के युद्धपोतों का भी उपयोग किया है।

Leave a Reply