भारत से सऊदी की फ़्लाइट, 31 मार्च से समान्य संचालन के बीच आप मत फँसिये, GulfHindi की पूरी रिपोर्ट जानिए

अब तक अपने भारत से सऊदी अरब के फ्लाइट की खबरें कई जगहों से कई प्रकार से एक ही खबर के 50 हेड लाइन के साथ एक ही खबर को लेकर 500 लोग अब तक आपको तोड़ मरोड़ कर जरूर दावा कर चुके होंगे कि भारत से सऊदी अरब की फ्लाइट यात्रा 31 मार्च से शुरू हो जाएगी आइए इस विषय पर पूरी जानकारी हमारी GulfHindi टीम के साथ समझिए.

31 मार्च से क्या खुल जाएगा ?

 सऊदी अरब के जनरल अथॉरिटी फॉर सिविल एविएशन के जारी किए गए बयान के अनुसार 31 मार्च से सारे अंतरराष्ट्रीय  फ्लाइट सेवाएं सामान्य रूप से संचालन के लिए हां कर दी जाएंगे और सऊदी नागरिकों को कहीं भी जाने की आजादी होगी.

इसका  असल मतलब क्या होगा ?

31 मार्च से सऊदी अरब के नागरिकों के लिए सऊदी अरब से कहीं भी बाहर जाने की इजाजत होगी इसका आशय महज सऊदी अरब के नागरिकों के साथ ही था. पूरे गाइडलाइन में कहीं पर भी यह नहीं कहा गया है कि सऊदी अरब सामान्य व्यवस्था को लागू करने और प्रवासियों को बुलाने के लिए हां कह रहा है खासकर से उन देशों को जहां पर सऊदी अरब यह मानकर बैन लगा चुका है कि वहां पर कोरोनावायरस की स्थितियां बेकाबू हैं जिसमें भारत का नाम शामिल है.

DOWNLOAD कीजिए GULFHINDI MOBILE APP

क्यों नहीं भारत के लिए या अन्य देश के प्रवासियों के लिए यह सामान्य संचालन होगा ?

 सामान्य संचालन के लिए किसी भी विदेशी यातायात के लिए उसका वीजा और एंट्री परमिट सिस्टम खोलना जरूरी है जो अभी सऊदी अरब तत्काल प्रभाव से बंद रखा है और इसके ऊपर सऊदी अरब ने 31 मार्च से खोलने के लिए कोई घोषणाएं नहीं करा है. और जब तक वीजा और एंट्री परमिट सिस्टम नहीं खोल दिया जाता तब तक किसी भी प्रकार से प्रवासियों को यह नहीं मानना चाहिए कि सऊदी अरब में उनका दाखिला सामान्य रूप से होगा.

DOWNLOAD कीजिए GULFHINDI MOBILE APP

तो क्यों चल रही है खबरें सऊदी अरब डायरेक्ट फ्लाइट भारत से  जैसे हेड लाइन?

 देखिए हमें और आपको समझने की जरूरत है कि अब जर्नलिज्म वैसा नहीं रहा जैसा पहले के समय हुआ करता था इंटरनेट पर ब्लॉगिंग के नाम पर कई लोग फेसबुक, यूट्यूब के माध्यम से अपने वेबसाइट और पोर्टल से कर रखे हैं ऐसे लोग केवल ऐसी कोई क्लू ढूंढते हैं जिससे वाह वैसे खबर लोगों के बीच में पेश कर पाए जिसकी लोगों को बेचैनी से इंतजार हैं ताकि उन्हें बेहतर उनके वेबसाइट पर क्लिक मिल सके या उनके वीडियो पर ज्यादा VIEW मिल सके. लेकिन इस चक्कर में हुआ था काफी विषम परिस्थितियों में सही खबरों का इंतजार कर रहे लोगों को इस प्रकार  परेशान  कर देते हैं कि लोगों को सही और भ्रामक चल रही खबरों के बीच में फर्क कर पाना मुश्किल हो जाता है.

आपको क्या करना चाहिए?

 हमेशा वैसे पोर्टल या अधिकारी खबरों को ही पढ़ें जो शत प्रतिशत सही हो आपको भी यह समझना जरूरी है कि अगर आप सही जर्नलिज्म कर रहे लोगों को पढ़ेंगे तो आपको भविष्य में ज्यादा बेहतर और सटीक खबरें तो मिलेंगे ही साथ में आप  भ्रामक खबरों से भी बचेंगे.

About Lov Singh

बिहार से हूँ, भारतीय होने पर गर्व हैं. मध्य पूर्व Asia से रूबरू कराता हूँ और फ़र्ज़ी खबरों की क्लास लगाता हूँ.
Download Gulfhindi MOBILE APP

1 Comment

Leave a Reply