सऊदी अरब में भारतीय युवक की मौत, सरदर्द की गोली खाने के बाद दिमाग में हुई थी क्लॉटिंग

सऊदी अरब में एक भारतीय युवक की मौत हो गई। वह युवक सऊदी में इंजीनियर के पद पर कार्यरत था वह भारत में पीलीभीत का रहने वाला था। शनिवार को उसके शव को भारत लाया गया। मौत से करीब 24वें दिन उसका शव भारत पहुंचा। जिसके बाद उसका अंतिम संस्कार किया गया।

युवक का नाम शारिक अली था जोकि पीलीभीत के खुदागंज निवासी सैयद मोहम्मद मियां का पुत्र था। वह सऊदी के किसी निजी कंपनी में काम करता था। 5 जून को जब वह अपनी कंपनी से घर जा रहा था तो रास्ते में ही उसकी तबीयत खराब हो गई। उसके सिर में तेल तेज दर्द होने लगा। इसके बाद उसने घर पहुंच कर सिर दर्द की गोलियां खाई। वह सुबह डॉक्टर को दिखाने वाला था।

सुबह जब काफी देर तक उसकी गाड़ी घर के बाहर ही खड़ी मिली और उसका दरवाजा अंदर से बंद मिला तो आस पड़ोस के रहने वाले लोगों ने उसके दरवाजे पर जाकर आवाज दी। कई बार आवाज देने के बाद वह जब घर से बाहर नहीं निकला तो लोगों ने नजदीकी पुलिस स्टेशन में इस बात की जानकारी दी।

पुलिस ने मौके पर पहुंचकर दरवाजे को तोड़ा तो देखा कि वह बेहोशी की हालत में अपने कमरे में पड़ा हुआ है। इसके बाद उसे तुरंत अस्पताल ले जाया गया। अस्पताल ले जाने पर डॉक्टरों ने यह बताया कि उसके दिमाग में क्लॉटिंग हो गई है और इसे यहां से किसी बड़े अस्पताल में शिफ्ट करना होगा।

बड़ा अस्पताल मौके से करीब डेढ़ सौ किलोमीटर दूर था इसीलिए अस्पताल पहुंचने से पहले ही शारिक की मृत्यु हो गई है हो गई। उसने रास्ते में ही दम तोड़ दिया। यह घटना 6 जून की है। हालांकि कोरोना महामारी के वजह से उसका शव 27 जून को भारत पहुंच सका।

Leave a Reply