सऊदी अरब आया भारतीय कमाने, मलिक के घर से 37 दिन बाद लौटा कामगार का शव, रियाद से वापस

रोजी-रोटी की तलाश में सात समंदर पार गये युवक को मौत के करीब 37 दिनों बाद वतन की मिट्टी नसीब हो सकी। शनिवार को उसका शव गांव पहुंचा तो परिवार में कोहराम मच गया। अंतिम दर्शन के बाद उसका अंतिम संस्कार तमसा नदी के किनारे किया गया।

 

फेफना थाना क्षेत्र के रट्टूचक (वैना) निवासी 30 वर्षीय रजनीकांत यादव करीब दो माह पहले सऊदी अरब के रियाद शहर पहुंचा। वहां पर उसे पाइप लाइन का काम करने लगा। इसी बीच 24 सितम्बर को उसके सीने में दर्द हुआ जिसके बाद साथ में रहने वाले दोस्तों ने अस्पताल पहुंचाया।

हालांकि डॉक्टरों ने जांच के बाद उसे मृत घोषित कर दिया। इसकी जानकारी परिजनों को हुई तो मातम पसर गया। कानूनी व कागजी प्रकिया के बाद युवक का शव हवाई जहाज से दिल्ली पहुंचा। पहले से दिल्ली में मौजूद परिजन शव को लेकर शनिवार को गांव लौटे तो माहौल गमगीन हो गया। रजनीकांत की पत्नी पूनम का रो-रोकर बुरा हाल हो गया। उसका अंतिम संस्कार सागरपाली गांव के सामने टोंस नदी के सेमरा घाट पर किया गया।

About Lov Singh

बिहार से हूँ, भारतीय होने पर गर्व हैं. मध्य पूर्व Asia से रूबरू कराता हूँ और फ़र्ज़ी खबरों की क्लास लगाता हूँ.
Download Gulfhindi MOBILE APP

Leave a Reply