सऊदी में अटैक, भारतीय मीडिया करने लगी रिपोर्टिंग, लेकिन फ़्लाइट खोलने की बात पर सब के कैमेरे OFF

Indian media nocare for Indians in KSA: सऊदी अरब के रियाद में ईरान समर्थित हाउथी विद्रोहियों के मिसाइल आसमान में नष्ट किए गए लेकिन कई मिसाइल सऊदी अरब के रियाद शहर के कई घरों में भी क्षेत्र के अंदर आ गए. यह लगातार फरवरी में दूसरी बार है जब ईरान समर्थित विद्रोहियों ने सऊदी अरब को बड़े पैमाने पर नुकसान दिया है इससे पहले आभा एयरपोर्ट पर विद्रोहियों के मिसाइल एयरक्राफ्ट को क्षतिग्रस्त कर गए थे.

Image

Image

 

भारतीय मीडिया भी इस मामले को लेकर लगातार सुर्खियां बना रही हैं और सऊदी अरब के ऊपर अपनी जबरदस्त रिपोर्टिंग की बातें कह रही हैं और यहां तक की एक्सक्लूसिव सऊदी अरब से तस्वीरें साझा करने की बात भी  वह लोग अपने चैनल पर बता रहे हैं.

 

लगभग कई महीने से भारत सरकार के द्वारा ठोस पहल ना कर पाने या पहल में लगातार विफल होने के कारण को अब तक भारतीय मीडिया मुख्य रूप से सुर्खियों में नहीं दिखा पाई है और इसका खामियाजा भारत जैसे देश के एक बड़े तबके जिसे अक्सर आप यहां प्रवासी कामगार कहते हैं वह भगत रहा है.

भारत के तरफ से ठोस वार्तालाप  कोशिश के ना होने के वजह से सऊदी अरब में नौकरी करने वाले लाखों भारतीय प्रवासी काफी परेशान है. भारत भले ही बड़े पैमाने पर सऊदी अरब के साथ एक मैत्रीपूर्ण संबंध वैक्सीन दोस्ती इत्यादि के जरिए दिखा रहा हो लेकिन जमीनी स्तर पर भारतीय प्रवासियों की नहीं तो सऊदी अरब के मंत्रालय सुन रहे हैं और ना ही भारतीय मंत्रालय इस पर विशेष ध्यान दे पा रही हैं.

मीडिया खासकर भारतीय मीडिया की बात करना इस मुद्दे पर बेमानी होगी क्योंकि इस वक्त भारतीय मीडिया वह कोई भी चीज जो सरकार की विफलता से जुड़ी हुई हो को दिखा पाने का हौसला नहीं रखती है. भारतीय मीडिया के जिम में केवल धर्म खतरे में है इत्यादि जैसे विषय रह गए हैं.

About Lov Singh

बिहार से हूँ, भारतीय होने पर गर्व हैं. मध्य पूर्व Asia से रूबरू कराता हूँ और फ़र्ज़ी खबरों की क्लास लगाता हूँ.
Download Gulfhindi MOBILE APP

Leave a Reply