145 दिन बाद सऊदी से आया भारतीय कामगार का शव, लंबे प्रयास के बाद मिली मदद

एक नजर पूरी खबर

  • 145 दिन बाद सऊदी से आया भारतीय कामगार का शव
  • लंबे प्रयास के बाद सरकार से मिली मदद
  • 14 अप्रैल को सऊदी अरब के रियाद के एक अस्पताल में हुई थी मौत

सऊदी अरब के तेलंगाना के एक प्रवासी श्रमिक की मौत के करीब पांच महीने बाद, उसका शव शनिवार को हैदराबाद पहुंचा। गौरतलब है कि जगतीयाल जिले के कोंडापुर गांव के रहने वाले पैंतालीस साल के Rajaiah’s की 14 अप्रैल को सऊदी अरब के रियाद के एक अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई थी। कोरोनाकाल में उड़ानों की बंदी के चलते शव की वापसी में लगातार परेशानियां आ रही थी।

 

एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के अनुसार, तेलंगाना विधान परिषद के एक सदस्य टी जीवन रेड्डी ने 21 जून को पोर्टल MADAD (कांसुलर सर्विसेज मैनेजमेंट सिस्टम) के माध्यम से रियाद में भारतीय दूतावास से इस मामले पर ध्यान देने की अपील की थी। अधिकारियों ने उन्हें बताया कि दूतावास को इस मामले की जानकारी नहीं थी, हालांकि सनके राजा्याह एक महीने से अधिक समय से मृत था। उन्होंने आश्वासन दिया कि वे तुरंत मृत्यु को पंजीकृत करेंगे और प्रत्यावर्तन प्रक्रिया शुरू करेंगे।

इसके बाद शव को भेजने में और देरी हुई क्योंकि Rajaiah’s के प्रायोजक ने समय पर निकास की अनुमति जारी नहीं की।वहीं सऊदी अरब के तेलंगाना के एक सामाजिक कार्यकर्ता बदगु लक्ष्मण ने अपनी टीम के साथ शव को भारत भेजने का काम किया। इस कडी़ में मृत Rajaiah’s के ताबूत शनिवार शाम को हैदराबाद हवाईअड्डे पर लाया गया।

Leave a Reply