भारतीय युवक दुबई में फँसा, ये हैं पूरा पता, भूखे रहने पर मजबूर, दूतावास भेज रहा हैं खाना

मीनू बांगड़ करनाल। दुबई में घूमने गए करनाल जिले के दो युवक कोरोना वायरस के चलते लॉकडाउन होने से वहीं फंसे हुए हैं। वह दुबई में अजमान जगह पर ठहरे हुए हैं। भारतीय दूतावास में उन्होंने संपर्क किया तो उन्हें दिन में दूतावास से एक या दो समय का खाना मुहैया करवाया जा रहा है।
rakesh
हालत यह है कि नहाने तक के लिए पानी नहीं मिल रहा। जिस स्थान पर यह दो युवक रुके हुए हैं वहां पर भारत के कुल 22 युवक हैं जो भारत के विभिन्न हिस्सों से हैं। यह सभी युवक वापिस भारत आना चाहते हैं लेकिन कोई मदद नहीं मिल रही। युवकों के पास पैसे न होने के कारण वह वापिस नहीं आ पा रहे हैं। युवकों ने भारत सरकार से उन्हें वापिस लाने के लिए मदद की गुहार लगाई है।
sushil
घरौंडा के वार्ड दो की जैल सिंह कॉलोनी निवासी सुशील व दादूपुर रोड़ान गांव निवासी राकेश आपस में रिश्तेदार हैं। यह दोनों 17 मार्च को घूमने के लिए दुबई गए थे। दुनिया में कोरोना वायरस ने जो हालात पैदा किए हुए हैं । उनके चलते जगह-जगह लॉकडाउन की स्थिति बनी हुई है । यह दोनों युवक भी दुबई में फंस गए और वापिस नहीं लौट पाए। उनका कहना है कि खाना मिलता है तो ठीक अन्यथा भूखा भी रहना पड़ता है। चाय तो मिलती ही नहीं। भूखे रहने पर भी मजबूर होना पड़ता है।
 

About Lov Singh

बिहार से हूँ, भारतीय होने पर गर्व हैं. मध्य पूर्व Asia से रूबरू कराता हूँ और फ़र्ज़ी खबरों की क्लास लगाता हूँ.
Download Gulfhindi MOBILE APP

Leave a Reply