कुवैत से प्रवासी कामगारों की वापसी पर कुवैत सरकार का नया फ़ैसला, जाने अब क्या जारी हुआ नया फरमान

  • घरेलू कामगारों की वापसी पर कुवैत सरकार का रूख

कोरोना काल में दूसरे देशों में फंसे कुवैत के घरेलू कर्मचारियों को वापस लौटने का कोई रास्ता नजर नहीं आ रहा है। तो वही कुवैत सरकार भी अपनी उड़ानों पर लगाए प्रतिबंध से रोक हटाने की दिशा में काम करती नहीं दिखाई दे रही है। इस कड़ी में आज कुवैत के एक लोकल अखबार ने भी इस बात की पुष्टि की है कि कुवैत सरकार कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए अपनी उड़ाने जल्द शुरू नहीं करेगी।

  • बीते दो हफ्तों से बंद है सभी उड़ाने

याद दिला दें पिछले महीने कुवैत ने कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों पर चिंता व्यक्त करते हुए भारत, पाकिस्तान, फिलिस्तीन, श्रीलंका समेत 31 देशों के साथ अपनी उड़ानों पर सख्त तौर पर पाबंदी लगा दी थी।

घरेलू कामगारों के लिए भर्ती कार्यालयों के मालिकों के लिए संघ के प्रमुख खालिद अल दोखान ने कहा कि संघ ने बार-बार संबोधन तो कर रहा है पर घरेलू कामगारों पर रूख साफ नहीं कर रहा। इस दौरान कुवैती पब्लिक अथॉरिटी ऑफ मैनपावर के साथ-साथ आंतरिक और विदेश मंत्रालयों ने घरेलू कामगारों के लिए वीजा जारी करने पर फिर से जवाब न मिलने पर नाराजगी जताई।

  • वीजा खत्म होने पर जल्द से जल्द वापिस लौटना चाहते हैं कामगार

अल डोखानन ने कुवैती अखबार अल जरीदा को बताया, “सात महीने के ठहराव के कारण बाजार में कमी के मद्देनजर घरेलू कामगारों की भर्ती के लिए वीजा जारी करना फिर से शुरू करना आवश्यक है।”

बता दे कुवैत में वर्तमान में अधिकांश घरेलू श्रमिकों के कॉन्ट्रेक्ट खत्म हो गए हैं और वे घर लौटना चाहते हैं, उन्होंने कहा कि मौजूदा आंकड़े दिए बिना उस पर आधिकारिक टिप्पणी नहीं की जा सकती है। बता दे कुवैत की 4.8 मिलियन आबादी में लगभग 3.4 मिलियन आबादी विदेशी है।

 

 

Leave a Reply