कुवैत ने लिया फ़ैसला, July से ही भारत, पाकिस्तान, बांग्लादेश मिस्र से कामगार को बुलाएगा वापस

कुवैत की समाचार पत्र के हवाले यह खबर मिली है कि कोरोनावायरस महामारी के प्रकोप के कारण हवाई यात्रा पर रोक के वजह से कुवैत में जो भी प्रवासी डॉक्टर है उन्हें काम करने में असमर्थता हो रही हैं, जिस कारण वह अगले महीने वापस आ जाएंगे।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि उन डॉक्टर की सूची तैयार कर ली गई है जो मंत्रालय के अस्पतालों में कार्यरत हैं, ताकि उनकी वापसी में किसी तरह की कोई परेशानी ना हो।

 

जानकारी के मुताबिक यह कहा जा सकता है कि यह सभी डॉक्टर जुलाई के पहले छमाही में वापस आ सकते हैं। सूत्रों की मानें तो कुवैत घरेलू देशों जैसे इजिप्ट, भारत और पाकिस्तान के साथ कोऑर्डिनेट कर रहा है। बता दें कि इन प्रवासी डॉक्टरों की वापसी को लेकर लंबे समय से प्रयास किए जा रहे थे, जो कि यात्रा के बाद विदेश में फंसे हुए थे।
अगर हम इस महीने की बात करें तो शुरुआती चरण में 658 नर्स और लैब टेक्नीशियन भारत से 3 समूहों में कुवैत लौटे थे।

1 Comment

Leave a Reply