70,000 प्रवासी कामगारों का PERMIT रोक गया, अगले साल देश छोड़ना ही होगा

2021 के शुरुआत के साथ ही 70000 प्रवासी कामगार जिनकी उम्र 60 साल से ऊपर है उन्हें कुवैत छोड़ना होगा क्योंकि उनके रेजिडेंस परमिट को अब रिन्यू नहीं किया जाएगा. इस बात की पुष्टि कुवैत के एक न्यूज़ पेपर में भी अधिकारिक तौर पर किया है.

 

वह अपने हाल ही में अपने कई कदम ऐसे उठाएं हैं जिसके जरिए प्रवासियों की संख्या कुवैत में कम की जा सके और डेमोग्राफिक इन बैलेंस को फिर से ठीक किया जा सके.

कुवैत के पब्लिक अथॉरिटी ने 1 प्रवासियों की लिस्ट बनाई है जिसमें वह लोग शामिल है जो अगले साल 60 वर्ष के होने जा रहे हैं और उनकी पढ़ाई लिखाई यूनिवर्सिटी डिग्री से कम है.  ऐसे सारे प्रवासियों को साल की शुरुआत होने के साथ ही कुबेर छोड़ने पर मजबूर होना पड़ेगा.

 

इस मामले में हालांकि कुछ अन्य तथ्य भी हैं जो इस प्रकार हैं.

वह लोग जो प्रवासी हैं और 60 साल के होने जा रहे हैं लेकिन अगर उनके बच्चे कुवैत में काम कर रहे हैं तो उन्हें बाहर नहीं निकाला जाएगा.

वह प्रवासी जो अगले साल 60 वर्ष के होने जा रहे हैं लेकिन वह किसी यूनिवर्सिटी की डिग्री रखते हैं या साफ शब्दों में कहें तो उच्च शिक्षा प्राप्त श्रमिकों को कुवैत छोड़कर नहीं जाना होगा.

जो सबसे महत्वपूर्ण बात हुआ है वह यह है कि जो भी प्रवासी कामगार 58 और 59 साल के हैं उनके रेसिडेंस और वर्क परमिट को महज 1 साल के लिए रिन्यू किया जाएगा.

About Lov Singh

बिहार से हूँ, भारतीय होने पर गर्व हैं. मध्य पूर्व Asia से रूबरू कराता हूँ और फ़र्ज़ी खबरों की क्लास लगाता हूँ.
Download Gulfhindi MOBILE APP

Leave a Reply