सऊदी अरब में खुले इ-लर्निंग स्कूल, नए साल के सत्र की शुरूआत में लोगों को आ रही कई परेशानियां

एक नजर पूरी खबर

  • सऊदी अरब में हुई नए स्कूली सत्र की शुरूआत
  • इ-लर्निंग के साथ शुरू हुई साल का नया सत्रा
  • नए साल के सत्र की शुरूआत में लोगों को आ रही कई परेशानियां

सऊदी अरब में लगभग 6 मिलियन स्कूली छात्रों और आधा मिलियन शिक्षकों ने रविवार को नए शैक्षणिक वर्ष का पहला सप्ताह शुरू किया, लेकिन इस दौरान कोरोना के बढ़ते मालों का डर सभी को सता रहा है।

दरअसल सऊदी अरब के शिक्षा मंत्रालय (एमओई) ने शैक्षणिक वर्ष की शुरुआत से पहले पिछले सप्ताह ई-लर्निंग शिक्षा के लिए अपने नए मदरसाटी से पहले  परीक्षण की शुरुआत की घोषणा की, लेकिन कई छात्र और शिक्षक प्रारंभिक घोषणा के बाद से अपने पंजीकरण के लिए कई तरह की परेशानियों का सामना कर रहे हैं।

इसी कड़ी में नए शैक्षिक मंच को लेकर एक हैशटैग रविवार को सऊदी अरब में ट्रेंड कर रहा था, जहां कई छात्रों, अभिभावकों और शिक्षकों ने मदद मांगी और साथ ही अपनी निराशा और पंजीकरण को लेकर अपना डर भी जाहिर किया।

वहीं जेद्दा के माध्यमिक विद्यालय के छात्र मरियम हरथी ने बताया कि उन्हें पसंद है कि वह जानते है कि पिछले सेमेस्टर में सब बाते सही ढंग से रही और शिक्षा अच्छे स्तर पर हुई। ऐसे में इस मंच से पहले यह बहुत आसान था, हम अपने टेलीग्राम समूह के माध्यम से शिक्षक के साथ सब कुछ व्यवस्थित करते थे और ZOOM या Microsoft टीमों पर उसके साथ कक्षाओं में भाग लेते थे। इस दौरान सब कुछ आसान था, लेकिन अब इस नई प्रकिया के तहत लोगों को नई परेशानियों का भी सामना करना होगा।

ऐसे में कई लोग जारी इस नए सत्र के तहत शुरूआत में अपना खाता बनाने में तो सक्षम रहे, लेकिन इसके आगे इससे जुड़ना उनके लिए परेशानी बन गया। ऐसे में इस नई प्रकिया से जुड़कर इ-लर्निंग की ओर आगे बढ़ने में लोगों को थोड़ा समय लगेगा पर ऐसे मुश्किल समय में यह उनके और उनके परिवार दोनों के लिए बेहद जरूरी है।

इसके साथ ही उन्होंने मंच से बच्चों को ई-लर्निंग का समर्थन करने और उसे समझने में थोड़ा वक्त देने के लिए भी कहा, जिससे बिना पढ़ाई-समय के नुकसान के साथ उन्हें आगे की और बढ़ने में मदद मिले।

Leave a Reply