सऊदी अरब और जॉर्डन ने बिजली सौदे पर किए हस्ताक्षर, सऊदी प्रिंस ने गिनाए सौदे के फायदे

एक नजर पूरी खबर

  • सऊदी अरब और जॉर्डन ने बिजली सौदे पर हस्ताक्षर किए
  • सऊदी के ऊर्जा मंत्री प्रिंस अब्दुल अजीज बिन सलमान ने हस्ताक्षर किए
  • जॉर्डन के ऊर्जा और खनिज संसाधन मंत्री हला ज़वती ने भी जताई रजामंदी

Saudi Arabia and Jordan

सऊदी अरब और जॉर्डन ने बिजली सौदे पर हस्ताक्षर किए। इस बात की जानकारी सऊदी प्रेस एजेंसी ने साझा करते हुए बताया कि सऊदी अरब और जॉर्डन ने एक बिजली सहयोग समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं। साथ ही बताया कि समझौता ज्ञापन (MoU) पर सऊदी के ऊर्जा मंत्री प्रिंस अब्दुल अजीज बिन सलमान और जॉर्डन के ऊर्जा और खनिज संसाधन मंत्री हला ज़वती ने हस्ताक्षर किए।
Saudi Arabia, Jordan sign agreement

इस दौरान सऊदी प्रिंस ने कहा कि “एमओयू दोनों देशों के नेतृत्व की सद्भावना से किया गया है, जिसका उद्देश्य उन ठोस संबंधों को मजबूत करना है जो दोनों देशों को एक साथ बांधते हैं, उनके बीच लंबे समय से स्थायी और प्रतिष्ठित संबंधों को मजबूत करते हैं, उन्हें व्यापक क्षितिज की ओर धकेलते हैं, और उपलब्ध क्षमता का दोहन और विद्युत ऊर्जा सहित सभी क्षेत्रों में उनके बीच मौजूदा सहयोग को मजबूत करने के अवसर को सुनिश्चित करते हैं। ”

उन्होंने कहा कि दोनों देशों के नेता एक तरह से रणनीतिक साझेदारी को मजबूत करने के इच्छुक थे, जिसने दोनों देशों के बीच संबंधों को मजबूत किया और अपने नागरिकों की आकांक्षाओं को पूरा किया। इसके साथ ही इस लक्ष्य के पूरा होने को लेकर उन्होंने कहा कि दोनों पक्षों के बीच अपने दो नेटवर्क के बीच एक विद्युत संबंध परियोजना स्थापित करने की इच्छा थी, साथ ही दो संचार नेटवर्क के बीच एक ऑप्टिकल फाइबर लाइन की स्थापना भी करना चाहते थे। जो इस परियोजना के तहत पूरा हो सकता है।

इसके साथ ही सऊदी प्रिंस ने कहा कि किंगडम और इराक के बीच विद्युत परस्पर संबंध तेजी से दोनों देशों के बीच सीधा संबंध और खाड़ी लिंक के माध्यम से पूरा होने की ओर बढ़ रहा था। ऐसे में यह परेशानी का कारण बन रहा था। उन्होंने जोर देकर कहा कि किंगडम और जॉर्डन के बीच विद्युत परस्पर संपर्क परियोजनाएं और इसके जैसी अन्य परियोजनाएं, विद्युत व्यापार के लिए क्षेत्रीय बाजार को बढ़ाएंगी और इसमें दोनों देशों की भागीदारी का समर्थन करेगी।

Leave a Reply