बदल रहा सऊदी अरब! मक्का मदीना में पहली बार शीर्ष पदों पर हुई 10 महिलाओं की तैनाती, जाने क्या है कारण

एक नजर पूरी खबर

  • सऊदी में बदल रहा महिलाओं के लिए दायरा
  • मक्का और मदीना मस्जिद में पहली बार हुई महिलाओं की तैनाती
  • सऊदी सरकार ने किया महिलाओं के पदों का ऐलान

सऊदी मक्का मदीना

 

बदलते दौर के साथ सऊदी अरब में भी लगातार बदलाव आ रहा है। दरअसल ऐसा पहली बार हुआ है, जब सऊदी के मक्का और मदीना मस्जिद में महिलाओं की तैनाती हुई है। सऊदी अरब की सरकार की तरफ से ऐसा पहली बार हुआ है कि यहां महिलाओं को महत्वपूर्ण जिम्मेदारी सौंपी गई है। ऐसे में यह खबर सोशल मीडिया पर आकर्षण का केन्द्र बनी हुई है।

saudi Makka Madina

गौरतलब है कि यह जानकारी सऊदी अरब प्रशासन ने प्रेस रिलीज के माध्यम से दी प्रशासन ने प्रेस रिलीज के माध्यम से दी है। इन 10 महिलाओं की तैनाती प्रशासनिक और तकनीकी विभाग में हुई है। बता दे सऊदी सरकार के बयान के मुताबिक यह कदम महिलाओं को उनकी काबिलियत और उनकी क्षमता के आधार पर दिया गया है। सऊदी अरब के क्रॉउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान महिलाओं को आगे बढ़ाने की अपनी योजना के मुताबिक महिलाओं को कई तरह की छूट दे रहे हैं। क्रॉउन प्रिंस सलमान ने ही महिलाओं को अकेले गाड़ी चलाने की इजाजत दी थी। इसके साथ ही वह लगातार महिलाओँ की उन्नति और प्रगति की दिशा में अक्सर कदम उठाते रहते हैं।

Mecca Madina

बता दे इन 10 महिलाओं की तैनाती शीर्ष पदों पर हुई है। वहीं इससे पहले साल 2018 में 41 महिलाओं की तैनाती मध्यम वर्ग के पदों पर हुई थी लेकिन यह पहली बार है जब मक्का मदीना में उच्च पदों पर महिलाओं की तैनाती की गई है।  मालूम हो कि मौजूदा समय में सऊदी अरब में करीब 1300000 महिलाएं कामकाजी जीवन जीती है, जो सऊदी अरब में कामगारों का 35 फीसदी हिस्सा है।

ऐसे में बदलते दौर के साथ सऊदी में भी महिलाओं के मान सम्मान और व्यवहार में लगातार बदलाव आ रहा है।

 

 

 

Leave a Reply