शारजाह में ख़ाली कराया जाने लगा ये इलाक़ा, लगेगा भारी प्रोजेक्ट, मिलेगी नौकरियाँ और POWER

एक नजर पूरी खबर

  • सौर ऊर्जा प्लान के लिए होगा खाली लैंडफिल का इस्तेमाल
  • हर साल देगा 42 मेगावाट से अधिक ऊर्जा
  • 270,565 वर्ग मीटर सौर क्षेत्र

Landfill Extension - Emirates Environmental Technology

दुबई सरकार खाली पड़े लैंडफिल का उपयोग करने की दिशा में काम कर रही है। इसके तहत शारजाह के बीआह(Bee’ah) का चयन किया गया है। इसके लिए इन क्षेत्रों के कैप्ड होने पर इनमें 47 हेक्टेयर तक सौर ऊर्जा यानी सोलर प्लान लगाने की तैयारी की जा रही है। बता दे इस परियोजना प्लान के तहत प्रति वर्ष 42 मेगावाट से अधिक ऊर्जा उत्पन्न की जा सकती है।

Landfills in UAE - ArcGIS StoryMaps

भारी मात्रा में होगा सौर ऊर्जा का उत्पादन

गौरतलब है कि सरकार के इस मेगा परियोजना प्लान के पहले चरण में, 24 मेगावाट के अनुमानित उत्पादन के साथ लैंडफिल क्षेत्र को 270,565 वर्ग मीटर सौर क्षेत्र में बदल दिया जायेगा। वहीं दूसरा चरण 16 मेगावाट सौर ऊर्जा का उत्पादन करने के लिए अतिरिक्त 200,099 वर्ग मीटर में परिवर्तित होगा।

दरअसल इसके लिए बीआह(Bee’ah) के Waste Management Complex में बदलने के बाद इस पर काम शुरू किया जायेगा।  साथ ही सुविधाएं को ध्यान में रखते हुए संसाधनों और resources and recyclables  किया जायेगा। इनमें सामग्री रिकवरी, टायर रीसाइक्लिंग, निर्माण और ढही हुई इमारतों के सामान को रीसाइक्लिंग के जरिए प्रयोग किया जायेगा। साथ ही कार और धातु के लिए एक और श्रेडिंग, एक औद्योगिक अपशिष्ट संयंत्र, एक बायोमास सुविधा और वैकल्पिक कच्चे माल को भी इसमें प्रयोग किया जायेगा।

बड़े स्तर पर मिलेगा लोगों को लाभ

गौरतलब है कि बीआह(Bee’ah) समूह के सीईओ, खालिद अल हरिमेल के अनुसार, “लंबे समय तक सौर बुनियादी ढाँचे के लिए अल साज़ा लैंडफिल का फिर से सही स्तर पर इस्तेमाल करने के लिए इस दिशा में काम करेगा। बता दे इस निवेश से शारजाह को अपने नवीकरणीय ऊर्जा लक्ष्यों को प्राप्त करने में मदद मिलेगी, और जीवाश्म ईंधन के लिए हमारी निर्भरता कम होगी।

Leave a Reply