Tag: Migrant Worker in Saudi

145 दिन बाद सऊदी से आया भारतीय कामगार का शव, लंबे प्रयास के बाद मिली मदद
India, Saudi

145 दिन बाद सऊदी से आया भारतीय कामगार का शव, लंबे प्रयास के बाद मिली मदद

एक नजर पूरी खबर 145 दिन बाद सऊदी से आया भारतीय कामगार का शव लंबे प्रयास के बाद सरकार से मिली मदद 14 अप्रैल को सऊदी अरब के रियाद के एक अस्पताल में हुई थी मौत सऊदी अरब के तेलंगाना के एक प्रवासी श्रमिक की मौत के करीब पांच महीने बाद, उसका शव शनिवार को हैदराबाद पहुंचा। गौरतलब है कि जगतीयाल जिले के कोंडापुर गांव के रहने वाले पैंतालीस साल के Rajaiah’s की 14 अप्रैल को सऊदी अरब के रियाद के एक अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई थी। कोरोनाकाल में उड़ानों की बंदी के चलते शव की वापसी में लगातार परेशानियां आ रही थी।   एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के अनुसार, तेलंगाना विधान परिषद के एक सदस्य टी जीवन रेड्डी ने 21 जून को पोर्टल MADAD (कांसुलर सर्विसेज मैनेजमेंट सिस्टम) के माध्यम से रियाद में भारतीय दूतावास से इस मामले पर ध्यान देने की अपील की थी। अधिकारियों ने उन्हें बताया कि दूतावास को...
सऊदी में प्रवासियों पर हो रहा अत्याचार, शौचालय का पानी पीने को मजबूर लोग, कौन करेगा जवाबदेही?
Saudi, World

सऊदी में प्रवासियों पर हो रहा अत्याचार, शौचालय का पानी पीने को मजबूर लोग, कौन करेगा जवाबदेही?

एक नजर पूरी खबर सऊदी में प्रवासी लोगों पर हो रहा अत्याचार बंदियों के साथ जानवरों की तरह करते हैं व्यवहार शौचालय का पानी पीने को मजबूर है लोग इन दिनों सउदी अरब में प्रवासियों के लिए जारी नए कानून की खासा चर्चा चल रही है। ऐसे में बता दे कि प्रवासियों का उपचार अधिकार समूहों की तीखी आलोचना के बाद आया है, जिसमें आरोप लगाया गया है कि बंदियों के साथ "जानवरों की तरह व्यवहार किया जाता है और "शौचालय का पानी पीने" के लिए मजबूर किया जाता है।  वहीं इस मामले पर राज्य से निर्वासन का इंतजार कर रहे बंदियों के अनुसार, अल-शुमासी निरोध केंद्र में इन दिनों बेहद भयावह स्थितियां हैं। सऊदी अधिकारियों द्वारा अवैध रूप से काम करने के लिए गिरफ्तार किए गए लोगों में से कई खुद को अल-शुमासी निरोध केंद्र का बता रहे हैं। इनमें 32,000 कैदियों को रखने के लिए बनाया गया एक विशाल परिसर है, जिसमें इन स...