परदेश में प्रवासी कैदियों के लिए मसीहा बने भारतीय बिजनेसमैन, यूएई के उप प्रधानमंत्री ने किया सम्मानित

एक नजर पूरी खबर

  • यूएई में कर्ज में डूबे प्रवासी कैदियों ने लिए मसीहा बने भारतीय व्यवसायी
  • परदेश वापसी करने में की कई लोगों की मदद
  • भारतीय कारोबारी फिरोज गौलम मर्चेंट को यूएई में किया गया सम्मानित

संयुक्त अरब अमीरात ने कर्ज में डूबे प्रवासी कैदियों को उनके ऋण चुकाने में मदद करने और उन्हें उनके संबंधित देशों में मुफ्त हवाई यात्रा प्रदान करने के लिए एक भारतीय व्यवसायी को सम्मानित किया है. एक खबर में यह जानकारी दी गई है।

गौरतलब है कि इस नेक काम के लिए यूएई के उप प्रधानमंत्री और आंतरिक मामलों के मंत्री शेख सैफ बिन जायद अल नहयान ने बुधवार को फिरोज गौलम मर्चेंट को एक उत्कृष्टता प्रमाण पत्र और एक प्रशस्ति पत्र प्रदान किया। प्योर गोल्ड ज्वैलर्स के मालिक मर्चेंट अपनी परोपकारी संस्था ‘फॉरगॉटन सोसाइटी’ की शुरूआत के बाद से इस तरह के कार्य करते आ रहे हैं।

वहीं इस मामले पर सम्मानित गौलम मर्चेंट ने कहा गया है कि ‘सरकार द्वारा दिया गया सम्मान मेरे लिए बहुत गर्व का क्षण है। मेरे विनम्र प्रयासों के वास्ते यह सम्मान दिये जाने के लिए मैं यूएई सरकार के प्रति आभार व्यक्त करना चाहूंगा.’

Leave a Reply