अरब में 16 लोगों को मौत की सज़ा का ऐलान: जासूसी करना पड़ा भारी, कैमरा और मोबाइल सब ज़ब्त

एक नजर पूरी खबर

  • यमन की होती कोर्ट का बड़ा फैसला
  • सऊदी के लिए जासूसी करने वाले लोगों को सुनाई मौत की सजा
  • एक साथ 16 लोगों को सुनाी मौत की सजा

Pro-Houthi court

यमन के होदेइदाह शहर में हौती विद्रोहियों को नियंत्रण में रखने वाले कोर्ट ने सऊदी अरब के लिए जासूसी करने के आरोप में 16 लोगों को मौत की सजा सुनाई है। बता दे इस खबर की पुष्टी समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने की है।

 

खबर के मुताबिक, सोमवार को एक रिपोर्ट में हौती द्वारा संचालित अल-मसीराह टीवी ने अभियुक्तों की पहचान जाहिर नहीं की, लेकिन कहा कि वे यमन के हैं और अदालत ने उन्हें जासूसी के लिए दोषी पाने के बाद उनकी सजा का ऐलान किया है।

गौरतलब है कि अप्रैल 2018 में होदेइदाह में सऊदी के नेतृत्व वाले गठबंधन के हवाई हमले में शीर्ष विद्रोही नेता सालेह अल-समद मारा गया था। जिसके बाद यह मामला लगातार सुर्खियों में बना रहा। वहीं अब तक इस मामले में गठबंधन समर्थित यमनी सरकार की ओर से अभी तक कोई टिप्पणी नहीं की गई थी।

बता दे यमन 2014 के अंत से गृहयुद्ध की चपेट में है, जब ईरान समर्थित हौती समूह ने देश के उत्तरा क्षेत्र के अधिकांश हिस्से पर नियंत्रण कर लिया और सऊदी समर्थित सरकार के राष्ट्रपति अब्द-रब्बुह मंसूर हादी को राजधानी सना से बेदखल होने पर मजबूर कर दिया।

Leave a Reply